फॉलो करें

आज कल के खर्चे पर होनी चाहिए चर्चा, इतिहास की बात करने के लिए विश्वविद्यालय है : शशि थरुर

42 Views

नई दिल्ली, 22 मई । दस राज्यों में चुनाव प्रचार के बाद दिल्ली में कांग्रेस के नेता और केरल के तिरुवनंतपुरम लोकसभा क्षेत्र से उम्मीदवार शशि थरुर ने दिल्ली प्रदेश कार्यालय में आज (बुधवार) संवाददाताओं से बातचीत की। इस दाैरान उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की अबकी बार 400 पार महज एक कल्पना थी। उन्होंने यह भी कहा कि भाजपा के पास कोई मुद्दा नहीं है ऐसे में वह बीती हुई बातों (इतिहास) की जिक्र करने लगती है।

थरुर ने कहा कि देश के सामने मौजूद वास्तविक मुद्दा बेरोजगारी और महंगाई है। जिससे आम जनता प्रभावित है। ऐसे में जब आम जनता आज कल के खर्चे से तंग है उससे निजात कैसे मिलेगी इस पर चर्चा होनी चाहिए। यह मुद्दा है । इतिहास की बातों पर चर्चा करने के लिए विश्वविद्यालय है। शशि थरूर ने कहा कि हमें उन मुद्दों पर ध्यान केंद्रित करना होगा जो आम भारतीयों के जीवन को छूते हैं, न कि इन अन्य मुद्दों पर। वास्तविक मुद्दों से ध्यान भटकाने से किसी का हित नहीं सधता है।

शशि थरुर ने कहा कि पीएम मोदी के पहले कार्यकाल की आर्थिक विफलताओं पर जनमत संग्रह होना चाहिए था किंतु 2019 में पुलवामा में हुई त्रासदी को राष्ट्रीय सुरक्षा चुनाव में बदल दिया गया। परिणामस्वरूप भाजपा कई राज्यों में अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन अब उन सभी 11 राज्यों में उन परिणामों को दोहराना असंभव है । भाजपा के गढ़ों में न्यूनतम मतदान हुआ है और मतदान के आंकड़ों में महत्वपूर्ण गिरावट आई है, कांग्रेस की अच्छी संख्या में वोटिंग हुई है इसलिए हमारा आत्मविश्वास और भी बढ़ गया है।

एक अन्य सवाल के जवाब में कांग्रेस के सांसद शशि थरूर ने कहा , “राहुल गांधी निर्विवाद रूप से कांग्रेस पार्टी के सबसे लोकप्रिय नेता हैं…उन्हें थोपने की जरूरत नहीं है।” शशि थरुर ने कहा कि जहां तक रायबरेली की बात है तो यह 1952 से ही यह सीट गांधी परिवार के कब्जे में है। फिरोज गांधी पहली बार वहां से चुने गए थे। अब उनकी मां (सोनिया गांधी) ने फैसला किया कि वह राज्यसभा में जाना चाहती हैं, तो यह उचित ही था कि विरासत बेटे को संभालनी चाहिए।

स्वाति मालीवाल मारपीट मामले पर कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने कहा कि यह देश के सामने मौजूद वास्तविक मुद्दों से ध्यान भटकाने का एक गंभीर प्रयास है। शशि थरूर ने कहा कि देश में चल रहे कई अहम मुद्दों जैसे बेरोजगारी और महंगाई से ध्यान भटकाने के लिए इस मामले को हवा दी जा रही है।

Share this post:

Leave a Comment

खबरें और भी हैं...

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल