फॉलो करें

केंद्रीय जल आयोग ने किया हिंदी कार्यशाला का तीसरा आयोजन

76 Views

शिलोंग, 29 दिसंबर (पू.सं.) । मुख्य अभियंता कार्यालय, बराक एवं अन्य बेसिन संगठन, केंद्रीय जल आयोग, शिलोंग द्वारा एक दिवसीय ऑनलाइन हिंदी कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसका आयोजन दो सत्र में हुआ, पहला सत्र- राजभाषा नियम ५ एवं धारा ३(३) का संपूर्ण विवरण और दूसरा सत्र- वर्तनी विषय पर आयोजित इस कार्यशाला में विशेषज्ञ के रूप में सह-प्राध्यापक, केन्द्रीय कृषि विश्वविद्यालय, शिलोंग के श्री आदित्य कुमार सिंह उपस्थित रहे।
इस कार्यशाला में पूर्वोत्तर भारत के असम, त्रिपुरा, मेघालय, और मिजोरम स्थित कार्यालयों के कर्मचारियों एवं अधिकारियों ने भाग लिया। जिनमें प्रमुख थे श्री एम. डब्लू. पवनीकर, अधीक्षण अभियंता (स.), मुख्य अभियंता कार्यालय, बराक एवं अन्य बेसिन संगठन, केंद्रीय जल आयोग, शिलोंग तथा श्री राजवीर सिंह, अधीक्षण अभियंता, मेघना परिमंडल, सिलचर, असम, श्री एम, एस सरवन, उप-निदेशक, उत्तर पूर्वी अन्वेषण परिमंडल तथा प्रभोधन एवं मूल्यांकन निदेशालय, शिलोंग, श्री निशांत कुमार, अधिशाषी अभियंता, उत्तर-पूर्वी अन्वेषण मंडल-२, मिजोरम, श्री रजत कुमार शर्मा, अधिशाषी अभियंता, उत्तर-पूर्वी अन्वेषण मंडल-१, तथा मेघना मंडल, सिलचर श्री कर्मा पिन्त्सो भूटिया, उप मंडलीय अभियंता, उप-निदेशक, उत्तर पूर्वी अन्वेषण परिमंडल तथा प्रभोधन एवं मूल्यांकन निदेशालय, शिलोंग, और श्री आकाश बाबु, कनिष्ठ अभियंता, उत्तर पूर्वी अन्वेषण परिमंडल तथा प्रभोधन एवं मूल्यांकन निदेशालय, शिलोंग तथा अन्य बहु कार्य निष्पादक, मेघना अन्वेषण बेसिन संगठन, शिलोंग, मंडल । श्री बसिम अर्फिन, उप मंडलीय अभियंता, उत्तर-पूर्वी अन्वेषण मंडल-१, श्रीमति ज्योत्सना रानी नायक, उप मंडलीय अभियंता मेघना परिमंडल, श्री प्रोबकर रॉय , बहु कार्य निष्पादक, उत्तर पूर्वी अन्वेषण परिमंडल तथा प्रभोधन एवं मूल्यांकन निदेशालय, शिलोंग विशेषज्ञ श्री आदित्य कुमार सिंह ने राजभाषा नीति, अधिनियम, राजभाषा आयोग, संसदीय राजभाषा समिति, राजभाषा संकल्प आदि विषयों पर इस कार्यशाला के दौरान गहन विचार-विमर्श किया। शिलोंग स्थित कार्यालय के हिंदी प्रभारी आकाश बाबु ने अपने कार्यालय में हिंदी की दशा और दिशा पर अपना प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। राजवीर सिंह, अधीक्षण अभियंता, मेघना परिमंडल, सिलचर, असम ने भी अपने कार्यालय में हिंदी के प्रयोग के विषय में चर्चा किया। मिजोरम के निशांत कुमार, अधिशाषी अभियंता, उत्तर-पूर्वी अन्वेषण मंडल-२ ने भी अपने कार्यालय में हिंदी की स्थिति पर प्रकाश डाला। प्रतिभागियों ने अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कार्यशाला की उपयोगिता के विषय में जानकारी दी। इस कार्यशाला का समापन श्री एम. डब्लू. पवनीकर, अधीक्षण अभियंता (स.), मुख्य अभियंता कार्यालय, बराक एवं अन्य बेसिन संगठन, केंद्रीय जल आयोग, शिलोंग द्वारा धन्यवाद ज्ञापन के साथ हुआ।

Share this post:

Leave a Comment

खबरें और भी हैं...

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल