फॉलो करें

केंद्र में फिर आई बीजेपी सरकार तो ढहा देगी 3500 मस्जिदें, बुर्के-दाढ़ी और अजान पर भी लग जाएगी रोक

160 Views

असम से लोकसभा सांसद और ऑल इंडिया यूनाइडेट डेमोक्रेटिक फ्रंट (AIUDF) बदरुद्दीन अजमल ने आरोप लगाया है कि यदि भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की दोबारा केंद्र में सरकार बनी तो देशभर में यह 3500 मस्जिदों को ढहा देगी। धुबरी जिले के गौरीपुर में आने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर एक रैली में बुधवार को अजमल ने राज्य की बीजेपी सरकार पर भी निशाना साधा और कहा कि यदि यह फिर जीत गई तो मुस्लिम महिलाएं बुर्का पहनकर बाहर नहीं निकल पाएंगी।

बीजेपी पर अयोध्या में बाबरी मस्जिद ढहाने का आरोप लगाते हुए अजमल ने कहा, ”बीजेपी ने देशभर के 3500 मस्जिदों की लिस्ट बना रखी है। यदि यह पार्टी फिर केंद्र में सत्ता में आई तो इन सभी मस्जिदों को ढहा दिया जाएगा।” 2005 में बनी अजमल की पार्टी की मुस्लिम वोटर्स के बीच अच्छी पकड़ है।

126 सीटों वाली विधानसभा में AIUDF के 14 विधायक हैं।

मंगलवार को विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने AIUDF, नव गठित आंचलिक गन मोर्चा (AGM) और तीन लेफ्ट पार्टियों, CPI, CPI-M और CPI-ML से चुनाव पूर्व गठबंधन की घोषणा की है। राज्य में अप्रैल-मई में विधानसभा चुनाव होने हैं। अजमल ने कहा कि बीजेपी देश, महिलाएं, मस्जिदों, तलाक और दाढ़ी की दुश्मन है। बदरुद्दीन ने लोगों से अपील की कि चुनाव से पहले भगवा पार्टी की ओर से दिए जा रहे पैसे स्वीकार नहीं करें, क्योंकि यह बलिदान
और सभी से आग्रह किया कि चुनाव से पहले भगवा पार्टी द्वारा वितरित धन को स्वीकार न करें।

रैली में जुटी भीड़ से सवाल करते हुए अजमल ने कहा, ”हम अपने घर के अंदर क्या खाते हैं क्या यह बीजेपी फैसला करेगी? यदि आप सतर्क नहीं रहे और बीजेपी असम में सत्ता में वापस आती है तो वे महिलाओं को बुर्का पहनकर बाहर नहीं निकलने देंगे, दाढ़ी नहीं रखने देंगे, टोपी नहीं पहनने देंगे और यहां तक कि मस्जिदों में अजान नहीं देने देंगे। क्या आप इस तरह जिंदगी जी पाएंगे?”

अजमल के बयान पर बीजेपी के साथ ही गठबंधन सहयोगी कांग्रेस और एजीएम ने भी नाराजगी जाहिर की है। बीजेपी के प्रवक्ता रूपम गोस्वामी के प्रवक्ता ने कहा, ”बयान उनकी घबराहट दिखाती है क्योंकि वह जानते हैं कि इस बार असम में अधिकतर मुस्लिम बीजेपी को वोट करेंगे। इस तरह के सांप्रदायिक बयानों से अजमल वोटों के ध्रुवीकरण की कोशिश कर रहे हैं। लेकिन असम के मतदाता समझदार हैं और ऐसे बयानों की सच्चाई जानते हैं।”

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष रिपुन बोरा ने गुरुवार को कहा, ”कांग्रेस कभी इस तरह की चीज नहीं कहेगी। मैंने सुना है कि उन्होंने बुधवार को रैली में क्या कहा। चूंकि वे हमारे गठबंधन का हिस्सा है, हम अजमल से इस बारे में पूछेंगे और सुनिश्चित करेंगे इस तरह के बयान भविष्य में हमारे किसी भी साथी की ओर से ना दिया जाए।” AGM के प्रमुख और राज्यसभा सांसद अजित कुमार भूयान ने भी अजमल के बयान की निंदा की और इसे सांप्रदायिक और समाज के लिए हानिकारक बताया।

Share this post:

Leave a Comment

खबरें और भी हैं...

मारवाड़ी सम्मेलन की तिनसुकिया तथा तिनसुकिया महिला शाखा के आतिथ्य में अखिल भारतवर्षीय मारवाड़ी सम्मेलन के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवकुमार लोहिया और महामंत्री कैलाश पति तोदी सहित प्रांतीय अधिकारियों का तिनसुकिया में भव्य स्वागत

Read More »

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल