कोकराझार में 129 बटालियन सीआरपीएफ में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस का आयोजन

0
542
कोकराझार में 129 बटालियन सीआरपीएफ में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस का आयोजन

कोकराझार , 9 फरवरी । 129 बटा0 केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल भोटगॉव में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें बटा0 के अधिकारियों एवं जवानों के परिवार की महिलाओं ने बढ़ – चढ़कर भाग लिया । कार्यक्रम में महिलाओं के लिए विभिन्न प्रकार के कार्यक्रमों का आयोजन भी किया गया । इस अवसर पर मुख्य अतिथि श्रीमती पूनम द्विवेदी के साथ श्रीमति राखी झा , श्रीमति ऐश्वर्या पाठक, श्रीमति पूनम पटियाल, श्रीमति शिवि यादव, श्रीमति नेहा गुप्ता , श्रीमति उमा डेहरिया एवं अन्य महिलाएँ उपस्थित थी ।

मुख्य अतिथि ने उपस्थित सभी महिलाओं को महिला दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं देते हुए बताया कि “ यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते , रमन्ते तत्र देवता ” अर्थात जहाँ नारी का सम्मान होता है वहाँ देवता निवास करते है । नारियों के इसी सम्मान का जश्न मनाने के लिए हर साल 8 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाता है । आजादी से लेकर वर्तमान समय तक महिलाओं ने देश के लिए प्रत्येक क्षेत्र में अपना योगदान दिया है । चाहे पर रहकर परिवार य बच्चों की देखभाल करनी हो या फिर घर की चारदीवारी से बाहर निकलकर नौकरी करनी हो महिलाओं ने अपनी हर भूमिका को बखूबी निभाया है । आज की महिलाएं स्वावलंबी एवं आत्मनिर्भर है । जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में ये पुरुषों से कधे से कंधा मिलाकर कार्य कर रही हैं । कई क्षेत्र में तो यह पुरुषों से भी आगे है । वर्तमान परिप्रेक्ष्य में अभी भी समाज में कई कुरीतियाँ है जिसे दूर करने की आवश्यकता है । जैसे दहेज प्रथा , बच्चियों को पूरी शिक्षा नहीं देना, कम उम्र में शादी करना , ससुराल में विभिन्न कारणों से प्रताडित करना इत्यादि ।

हमारा देश मैत्रेयी , गार्गी , रानी लक्ष्मीबाई . इदिरा गांधी , लता मंगेशकर मदर टेरेसा , कल्पना चावला जैसी सशक्त नारियों एवं विरांगनाओं का देश है । हमारे देश में श्रीमति प्रतिभा पाटिल ने राष्ट्रपति जैसी सर्वोच्च पद की गरिमा बढ़ाई है । अत आज आवश्यकता है पूरे समाज के सोच को बदलने की और महिलाओं का पूर्ण सशक्तिकरण करने की । आज केरिपुबल महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए बटा0 एवं ग्रुप केन्द्र स्तर पर विभिन्न प्रकार की योजनाएं चला रहा है । साथ ही पहली महिला बटालियन का गठन भी केरिपुबल में ही हुआ था । केरिपुबल में आज 6 महिला बटालियन है । जिससे बल के जवानों की महिलाएं आत्मनिर्भरता की तरफ आगे बढ़ रही है । आज के दिन को मनाने का उद्देश्य भी महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देना ही है । हमें केवल आज के दिन ही नहीं बल्कि हर दिन यह प्रण लेना चाहिए कि महिलाओं को पूरा सम्मान देगे . उनकी तरक्की पर किसी भी रूप में रोक नहीं लगाएंगे , उनको सशक्त बनाने में जितना हो सके उतना सहयोग करेगे । जिस दिन देश की महिलाएं सशक्त बन गयी उस दिन हमारे भारत देश को सशक्त बनने से दुनिया की कोई भी ताकत रोक नहीं सकती । वाहिनी की चिकित्सा अधिकारी श्रीमति एन0 खेरोडा देवी द्वारा उपस्थित महिलाओं को संबोधित करते हुए महिला स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं एवं उनके निराकरण के बारे में भी जानकारी दी गई साथ ही कोरोना से बचाव के उपाय के बारे में भी बताया गया । किसी प्रकार की सहायता हेतु उन्हें यहाँ अविलंब बताने हेतु कहा।

इस अवसर पर 129 बटा 0 द्वारा महिलाओं के लिए रंगोली बनाने की प्रतियोगिता , म्यूजिकल चेयर प्रतियोगिता, संगीत एवं नृत्य का भी आयोजन किया गया जिसमें क्रमशः श्रीमती बीना , श्रीमती सम्पा सरकार, श्रीमती मानसा, प्रथम स्थान पर रही , प्रतियोगिता में प्रथम , द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त पुरस्कार विजेता महिलाओं को पुरस्कृत भी किया गया । मंच का संचालन श्रीमति पूनम पटियाल ने किया । और अंत में श्रीमति राखी झा ने सभी महिलाओ को एक बार पुनः महिला दिवस की सुभकामनाये देते हुए इस समारोह में प्रभावशाली भागीदारी हेतु धन्यवाद दिया एवं भविष्य में अन्य अवसरों पर समारोह का आयोजन की बात कही। उन्हें अपना एवं अपने परिवार का ध्यान रखने एवं सशक्त बनने की सलाह भी दी । एवं कहा जो कभी ना हारी वही है नारी ।

गोपाल प्रसाद
कोकराझार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here