फॉलो करें

गुवाहाटी से पैदल निशान यात्रा कर श्री श्याम धाम , डिब्रूगढ़ पहुंचे श्याम भक्त समीर शर्मा, बाबा को निशान अर्पित कर यात्रा को दिया विराम श्यामप्रेमियों से मिले प्यार और आशीर्वाद से अभिभूत हुए समीर शर्मा , दिया धन्यवाद

38 Views
डिब्रूगढ , 9 फरवरी , संदीप अग्रवाल
डिब्रूगढ के श्याम प्रेमी और बाबा श्याम के परम भक्त समीर शर्मा ने आज श्री श्याम धाम डिब्रूगढ़ में विराजमान डिब्रूगढ़ नरेश बाबा श्याम को अपनी गुवाहाटी के श्री सुक्लेस्वर मंदिर से गत दिनांक 29/01/24 को शुरू की गई गुवाहाटी से डिब्रूगढ़ तक की पैदल निशान यात्रा को आज निशान अर्पित कर विराम दिया |
ज्ञात हो की दिनांक 29/01/24 को समीर शर्मा ने सुक्लेस्वर मंदिर से सात निशान उठाए थे , जिसमे उन्होंने पहला निशान श्री श्याम मंदिर , गुवाहाटी दूसरा निशान श्री श्याम धाम , नौगांव , तीसरा निशान श्री ठाकुरबाड़ी , बोकाखाट , चौथा निशान श्री श्याम मंदिर जोरहाट , पांचवा निशान श्री सत्यनारायण ठाकुरबाडी,  शिवसागर , छठा निशान श्री निराला धाम , शिवसागर और सातवां निशान आज श्री श्याम धाम, डिब्रूगढ में बाबा श्याम को अर्पित किया हैं। श्री श्याम धाम पहुंचने पर श्री श्याम धाम की ओर से समीर का फूलों की माला तथा असमिया फूलाम गमछे से अभिनंदन किया गया | अपने संबोधन में श्री श्याम धाम के संस्थापक  सदस्य श्यामभक्त प्रवेश बजाज ने कहा कि यह हम सभी डिब्रूगढ़ वासियों के लिए खुशी की बात है कि समीर शर्मा दूसरी बार पैदल निशान यात्रा कर हमारे श्री श्याम धाम पहुंचे है | श्री श्याम धाम पहुंचने से पहले समीर शहर के जालान कटला , न्यू मार्केट स्थित श्री सांवरिया ठाकुरबाड़ी पहुंचें, वहां उन्होंने सांवरिया सेठ के दर्शन कर  पूजा अर्चना की और उसके बाद डिब्रूगढ़ के श्यामभक्तों के साथ बाबा का भजन गाते हुए , जयकारा लगाते हुए , हाथों में निशान लिए श्री श्याम धाम पहुंचे |
ज्ञात हो कि समीर ने इससे पहले कुछ दिनों पूर्व ही अरुणाचल प्रदेश स्थित परशुराम कुंड से डिब्रूगढ़ श्री श्याम धाम तक पैदल निशान यात्रा की थी |
अपनी बारह दिवसीय इस यात्रा के दौरान समीर शर्मा ने बताया कि उन्हें इस बात का कभी एहसास नहीं हुवा की वह अकेले इस यात्रा को कर रहें हैं उन्हें पता था कि बाबा श्याम उनके हर कदम पर उनके साथ हैं, उन्होंने बताया की कैसे पग पग पर बाबा श्याम उनकी इस यात्रा को संभाल रहें थे और कैसे लोग जगह जगह उनसे आगे से आगे उनसे इस यात्रा में जुड़ते जाते थे और उनके लिए आगे आगे ठहरने की और सात्विक भोजन की व्यवस्था खुद ब खुद रोज होती जाती थी , उन्होंने इस यात्रा को सफल और ऐतिहासिक बनाने के लिए रास्ते भर में मिले हर श्याम भक्त , श्याम प्रेमी और समाज बंधुओं का आभार व्यक्त किया और कहा कि वह अब बाबा श्याम के खाटू बुलावे की राह देख रहे हैं । साथ ही समीर ने विभिन्न संवाद माध्यमों का भी धन्यवाद दिया जिन्होंने समय समय पर उनकी यात्रा की सूचना जन जन तक पहुंचाई |
आज डिब्रूगढ़ आगमन पर डिब्रूगढ़ की धार्मिक और सामाजिक संस्थाओं क्रमशः श्री मंगलमय सुंदरकांड सत्संग समिति , श्री श्याम परिवार तथा अन्यों  ने समीर शर्मा का गर्मजोशी से फूलों की वर्षा कर ,  दुप्पटा और फूलों की माला पहनाकर एवम मोमेंटो देकर भव्य स्वागत किया ।

Share this post:

Leave a Comment

खबरें और भी हैं...

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल