फॉलो करें

छात्र एवं युवा संगठन कछार के संयुक्त मंच ने त्रिपुरा में अल्पसंख्यकों पर हमले के खिलाफ धरना प्रदर्शन किया

70 Views
आज दोपहर चार से पांच बजे तक सिलचर में खुदीराम की मूर्ति के सम्मुख जिले के वामपंथी छात्र युवा संगठनों की संयुक्त प्रयास से त्रिपुरा के विभिन्न हिस्सों में अल्पसंख्यक लोगों पर आयोजित हमलों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया गया।  वामपंथी छात्र युवा संगठन डीओवाइएफआइ,एआइडीएसओ,एन आइएसए,एआइएसबी,एसएफआइ,एआइडीओवाइओ,एओवाइओवाइएल आदि ने बैठक में भाग लिया और तत्काल कार्रवाई की मांग की। त्रिपुरा सहित देश के विभिन्न हिस्सों में भाषाई और धार्मिक अल्पसंख्यकों के क्रूर उत्पीड़न को रोका जाना चाहिए। .  डीवाईएफआई के जिला अध्यक्ष पावलोव लश्कर ने कहा कि कट्टरपंथी ताकतों की साजिश से बांग्लादेश में रहने वाले अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों पर हमला किया गया था, लेकिन कट्टर विरोधी के कट्टर विरोध के बावजूद सरकार ऐसा करने से हिचक रही थी।पर बादमें सरकार ने कार्रवाई की जो पर्याप्त नहीं था । एआइडीएसओ की असम राज्य समिति के उपाध्यक्ष हिलोल भट्टाचार्य ने कहा कि चरमपंथी-सांप्रदायिक ताकतों के खिलाफ एकजुट लोकतांत्रिक आंदोलन करने के अलावा कोई विकल्प नहीं ।  उन्होंने यह भी कहा कि हाल ही में सिलचर कस्बे में अल्पसंख्यक समुदाय के एक निर्दोष व्यक्ति पर हमला किया गया है, लेकिन अपराधी अभी भी फरार हैं।  हमें इस देश की चरमपंथी-सांप्रदायिक ताकतों के खिलाफ लड़ना है क्योंकि बांग्लादेश के लोगों ने कट्टरपंथियों के खिलाफ लड़ाई लड़ी है।  एन आइ एस ए की मधुलिका सोम ने कहा कि कट्टरपंथियों का कोई धर्म नहीं होता, उनका एकमात्र लक्ष्य हिंसा और नफरत फैलाना होता है।  एआइडीएसओ के जिला सचिव गौर चंद्र दास ने कहा कि पूंजीपति वर्ग की स्वार्थी सरकारें दोनों देशों के लोगों की समस्याओं को छिपाने के लिए एकता विरोधी गतिविधियों को आयोजित करने में अतिवादी-सांप्रदायिक ताकतों की मदद कर रही हैं।  उन्होंने छात्रों और युवाओं से इन सबके खिलाफ आगे आने का आह्वान किया।  एसएफआई के जिला सचिव साहारूल मजूमदार ने बांग्लादेश, त्रिपुरा और सिलचर में हुई घटनाओं के पीछे शासक वर्ग की साजिश की ओर इशारा करते हुए कहा कि उन्हें जनहितैषी आंदोलन के जरिए अलग-थलग किया जाना चाहिए।  इसके अलावा डीवाईएफआई के स्वारसत मालाकार, एआईडीवाईओ के जिला सचिव बिजीत कुमार सिंह, एआईवाईएल के राजू देबनाथ, प्रबीर पाल, खोकन हुसैन लस्कर, डीवाईएफआई के आलोक सिन्हा, एनआईएसए के नवस्मिता दास, अनिक दास और अन्य लोगों ने वक्तव्य दिया।

Share this post:

Leave a Comment

खबरें और भी हैं...

मारवाड़ी सम्मेलन की तिनसुकिया तथा तिनसुकिया महिला शाखा के आतिथ्य में अखिल भारतवर्षीय मारवाड़ी सम्मेलन के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवकुमार लोहिया और महामंत्री कैलाश पति तोदी सहित प्रांतीय अधिकारियों का तिनसुकिया में भव्य स्वागत

Read More »

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल