तिनसुकिया ग्रेनेड विस्फोटः मृतकों की संख्या हुई दो

-मुख्यमंत्री डॉ हिंमत बिस्व सरमा ने डीजीपी को दिए दोषियों पर सख्त कार्रवाई के निर्देश

0
136
तिनसुकिया ग्रेनेड विस्फोटः मृतकों की संख्या हुई दो

तिनसुकिया(असम), 14 मई (हि.स.)। तिनसुकिया जिलांतर्गत डिगबोई के टिंगराई बाजार में स्थित पुरन अग्रवाल नामक हार्डवेयर की दुकान के बाहर शुक्रवार को हुए ग्रेनेड विस्फोट में मरने वालों की संख्या दो हो गयी है।

मृतकों की पहचान संजीव सिंह (25) और सुरजित तालुकदार (22) के रूप में की गयी है। जबकि, दो घायलों का इलाज फिलहाल डिब्रूगढ़ मेडिकल कॉलेज व अस्पताल में चल रहा है। मुख्यमंत्री डॉ बिस्व सरमा ने ट्वीट कर बताया है कि घटना के बाद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने फोनकर विस्फोट के संबंध में जानकारी ली।

उल्लेखनीय है कि विस्फोट के दौरान चार व्यक्ति घायल हो गये। चारों को पुलिस ने स्थानीय लोगों की मदद से स्थानीय अस्पताल में इलाज के लिए रेफर किया। जहां पर चिकित्सकों ने एक व्यक्ति को मृत घोषित कर दिया। वहीं गंभीर रूप से घायलों को तुरंत उन्नत चिकित्सा के लिए डिब्रूगढ़ मेडिकल कालेज अस्पताल में रेफर किया गया। बीच रास्ते में ही सुरजीत तालुकदार की भी मौत हो गयी।

इस घटना की जानकारी मिलते ही मुख्यमंत्री डॉ हिमंत बिस्व सरमा ने शरारती तत्वों द्वारा किए गए ग्रेनेड विस्फोट पर गहरी चिंता जताते हुए इसे कायराना कृत करार दिया। मुख्यमंत्री ने पुलिस महानिदेशक को ऐसे शरारती तत्वों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का आदेश दिया है।

ज्ञात हो कि घटना तकरीबन दिन के 01 बजे के आसपास की है जब हार्डवेयर का दुकानदार अपनी दुकानदार को बंद करने जा रहा था, इसी दौरान विस्फोट हो गया। विस्फोट की खबर मिलते ही जिला के पुलिस अधीक्षक और डीआईजी मौके पर पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि टिंगराई बाजार में ग्रेनेड विस्फोट की खबर मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस की टीम ने स्थानीय लोगों की मदद से एंबुलेंस के जरिए गंभीर रूप से घायल चार लोगों को अस्पताल पहुंचाया। जहां पर डॉक्टरों ने संजीव सिंह (25) को मृत घोषित कर दिया। वहीं घनश्याम अग्रवाल (32), मनजीत दास (19) और सुरजीत तालुकदार (22) का काफी गंभीर अवस्था में अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया। उन्नत चिकित्साक लिए डिब्रूगढ़ ले जाते समय सुरजीत तालुकदार की भी मौत हो गयी।

आज की घटना और इसी सप्ताह जागुन में हुए ग्रेनेड विस्फोट में संबंध होने को लेकर पूछे गये सवाल के जवाब में पुलिस अधीक्षक ने दोनों विस्फोटों को अलग-अलग विस्फोट करार दिया। साथ ही उन्होंने कहा कि विस्फोट के बाद घटनास्थल से हमें काफी सुराग मिला है लेकिन जांच की खातिर फिलहाल इस संबंध में हम अधिक जानकारी साझा नहीं कर सकते।

ग्रेनेड विस्फोट के पीछे किस आतंकी संगठन का हाथ है इसका पता नहीं चल सका है। पुलिस इस संबंध में फिलहाल कुछ भी बताने से इनकार कर दिया है। पुलिस इस संबंध में एक प्राथमिकी दर्ज कर मामले की जांच कर रही है। इसी सप्ताह में तिनसुकिया के जागुन में भी एक ग्रेनेड विस्फोट हुआ था, जिसमें एक 12 वर्षीय बच्चे की मौत हुई थी। जबकि अन्य एक बच्चा घायल हो गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here