फॉलो करें

नवरात्र में माता को प्रसन्न करने के लिए भोग

353 Views

माता रानी के पावन नवरात्र शुरू हो रहे है. माता रानी अपने सभी भक्तों की मनोकामना पूर्ण करे. इन दिनों में मां को अलग अलग तरह का भोग लगता है. इस निमित कुछ जानकारी आपसे सांझा करती हूं.
 *मां शैलपुत्री
मां शैलपुत्री को सफेद चीजों का भोग लगाया जाता है. इस दिन देवी मां के चरणों में गाय का शुद्ध घी अर्पित करने से व्यक्ति को हर तरह के रोगों से मुक्ति मिलती है. यदि आप ज्योत जलाते हैं या हवन करते हैं तो उसमें शुद्ध देसी घी की आहूति जरूर दें.
 *मां ब्रह्मचारिणी
नवरात्रि के दूसरे दिन मां को शक्कर का भोग लगाये. इस दिन माता को मिश्री और पंचामृत का भी भोग लगाया जाता है. माना जाता है कि इस दिन इन खास चीजों का दान करने से आयु लंबी होती है.
 *मां चंद्रघंटा
मां चंद्रघंटा को दूध और उससे बनी चीजों का भोग लगाया जाता है. इस दिन मां को खीर व दूध से बनी मिठाईयों का भोग लगाएं. मां चंद्रघंटा खुश होती हैं और व्यक्ति के सभी दुखों का नाश करती हैं.
 *मां कुष्मांडा 
नवरात्रि के चौथे दिन मां कुष्मांडा को मालपुआ का भोग लगाया जाता है. इस दिन मां का थोड़ा सा प्रसाद गाय को भी खिलाएं, पुनः प्राप्त होता है.
 *मां स्कंदमाता* 
नवरात्रि के पांचवें दिन स्कंदमाता देवी की पूजा की जाती है. इस दिन मां को केले का भोग लगाया जाता है. मां के थोड़े से प्रसाद में से कुछ केले गाय व नंदी को भी खिलाएं. यह प्रसाद छोटे बच्चों में भी बांटें. ऐसा करने से सद्बुद्धि आती है.
 *मां कात्यायनी
छठे दिन देवी कात्यायनी को शहद का भोग लगाते हैं. इस दिन प्रसाद में शहद का प्रयोग करने से साधक को सुंदर रूप की प्राप्ति होती है.
 *मां कालरात्रि 
नवरात्रि के सातवें दिन कालरात्रि देवी की पूजा की जाती है. इस दिन माता को गुड़ का भोग लगाते हैं. कहा जाता है कि इस दिन भगवती को गुड़ का भोग लगाने से व्यक्ति शोकमुक्त होता है.
 *मां महागौरी
नवरात्रि के आठवें दिन महागौरी की पूजा की जाती है. इस माता को नारियल का भोग लगाया जाता है.मान्यता है कि ऐसा करने से आपकी मनोकामना पूरी होती है.
 *मां सिद्धिदात्री 
नवरात्र के अंतिम दिन सिद्धिदात्री देवी की पूजा की जाती है. इस दिन मां को विभिन्न प्रकार के अनाजों का भोग लगाएं जैसे हलवा, चना-पूरी, खीर पुए. फिर उसे छोटे बच्चों, देवी स्वरूपा कन्याओं को खिलाएं और उन्हें दक्षिणा दें. ऐसा करने से जीवन में हर प्रकार की सुख-शांति मिलती है.
*मां* के नौ स्वरूपों का उनका पसंदीदा भोग लगाएं और थोड़ा सा प्रसाद छोटे बच्चों, बुजुर्गों व गाय को भी दे और उसके उपरांत स्वयं ग्रहण करें.

Share this post:

Leave a Comment

खबरें और भी हैं...

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल