पाथरकांदी और दुर्लभछोड़ा में मातृभाषा स्वाभिमान जागरण की आंचलिक समिति गठित

0
560

आज पाथरकांदी और दुर्लभछोड़ा में मातृभाषा स्वाभिमान जागरण समिति की आंचलिक बैठकें केंद्रीय समिति के कार्यकारी अध्यक्ष दिलीप कुमार की उपस्थिति में संपन्न हुई। दोनों बैठकों में आंचलिक समितियों का गठन किया गया।

लोहाइपुआ में मातृभाषा स्वाभिमान जागरण समिति पाथरकांदी एरिया की एक सभा शिवनारायण पासी की अध्यक्षता में आयोजित की गई। सभा में व्यापक विचार विमर्श के पश्चात सर्वसम्मति से आगामी जनगणना में मातृभाषा हिंदी लिखाने का निर्णय लिया गया। गांव, बागान तथा बस्ती में मातृभाषा स्वाभिमान जागरण हेतु घनश्याम कोइरी को अध्यक्ष और गौतम कोइरी को सचिव मनोनीत कर आंचलिक समिति का गठन किया गया। समिति में श्रीमती संयोगिता पासी, राम सिंहासन कोईरी, गौरीशंकर तिवारी तथा राजू गोस्वामी को उपाध्यक्ष, सुदीप ग्वाला, विनय बोथरा, विजय कुमार तिवारी व रोशन गुप्ता को सह सचिव, गोरी शंकर कोईरी को कोषाध्यक्ष, संतोष रविदास को सह कोषाध्यक्ष, विजय प्रसाद लोहार को संगठन मंत्री, निर्मल कोईरी को सह संगठन मंत्री तथा विरेश ग्वाला, गणेश दुसाध, रंजीत लाल कोइरी व शंभू तेली को प्रचार सचिव मनोनीत किया गया। सलाहकार समिति में शिवनारायण पासी, शंकर प्रसाद लोहार, हीरालाल प्रजापति, कांता प्रसाद ग्वाला, उदित नारायण कानु, सुदर्शन रविदास, मधुसुदन कोहार, विष्णुराम कानु तथा दासी ग्वाला आदि शामिल हैं। एरिया के सभी गांव से 1-2 लोगों को कार्यकारिणी सदस्य के रूप में मनोनीत करने तथा गांव-2 में समिति गठन का दायित्व अध्यक्ष और सचिव को प्रदान किया गया।

 

दुर्लभछोड़ा एरिया की बैठक उमाशंकर बनिया की अध्यक्षता में आयोजित की गई। बैठक में विभिन्न वक्ताओं ने जनगणना में एक जुट होकर मातृभाषा हिंदी लिखाने का सुझाव दिया। श्याम नारायण यादव को अध्यक्ष तथा विश्वजीत कोइरी को सचिव मनोनीत कर दुर्लभछोड़ा आंचलिक समिति का गठन किया गया। समिति में चंदन त्रिपाठी, विजय कानु तथा श्रीमती सविता कोइरी को उपाध्यक्ष, सत्यजीत सिंह और ब्रजेश पांडेय को सह सचिव, संजय कुमार गोस्वामी को कोषाध्यक्ष, विजयभान सिंह को संगठन मंत्री, राजेश कमकर को सह संगठन मंत्री, अनुप कांति कोइरी को प्रचार सचिव तथा फूलचंद सोनार को सह सचिव मनोनीत किया गया। सलाहकार समिति में उमाशंकर बनिया, दिवाकर राय, नंदलाल कोहार, विकास कलवार, डा. चंद्रशेखर पांडेय, राधेश्याम कोइरी, श्याम धर दूबे, जयकिशोर कोइरी, राधेश्याम कोहार आदि को शामिल किया गया। कार्यकारिणी में सभी गांव से सदस्य जोड़ने का दायित्व अध्यक्ष और सचिव को प्रदान किया गया।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here