फॉलो करें

पाथिनी चाय बागान आज से खुलेगा, त्रिपक्षीय वार्ता के पश्चात सर्वसम्मति से निर्णय 

44 Views
शिलचर 11 मई: पाथिनी चाय बागान के प्रबंधक सुप्रिय सिकदार ने मीडिया को दिए एक वक्तव्य में बताया कि गैर श्रमिकों द्वारा बागान में कानून व्यवस्था की समस्या उत्पन्न करने के कारण बागान बंद करने का निर्णय लिया गया था। बाहरी शक्तियों ने बागान प्रबंधक के साथ गाली-गलौज, घेराव और दुर्व्यवहार किया। आज की बैठक में प्रशासन ने ऐसे असामाजिक तत्वों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है, इसलिए हम लोग कल से पुनः बागान प्रारंभ करने जा रहे हैं। 09/05/2024 को करीमगंज जिले के पाथिनी चाय बागान प्रबंधन द्वारा चाय बागान में लाक आउट की घोषणा से चाय बागान श्रमिकों में तनाव और उत्तेजना व्याप्त थी। उपरोक्त समस्या के समाधान हेतु सहायक श्रम आयुक्त, शिलचर ने आज शनिवार को एक बैठक आयोजित की।
इस बैठक में बराक चाय श्रमिक यूनियन के अध्यक्ष सांसद कृपानाथ माला, महासचिव राजदीप ग्वाला, महासचिवद्वय सनातन मिश्रा और रवि नूनिया, सचिव बाबुल नारायण कानू, सहसचिव दुर्गेश कुर्मी, पाथिनी, पिपलागोल और चंपाबाड़ी चाय बागान पंचायत क्रमशः निरामती चाषा, श्याम चरण कोईरी, दुलु चाषा , बीरबल ग्वाला, प्रदीप भर, राम प्रसाद तांती, रंजीत बिन, बीरबल गोड और अन्य लोग मौजूद थे।
 बैठक में बागान प्रबंधन की ओर से टाई सचिव शरदिंदु भट्टाचार्य, निदेशक कमलेश सिंह, सीईओ सुशील सिंह और मैनेजर सुप्रिय सिकदार मौजूद थे। साथ ही प्रशासन की ओर से एडीसी करीमगंज एआर मजूमदार, सहायक श्रम आयुक्त हेमंत कलिता, करीमगंज श्रम अधिकारी वी चिंजा ने भाग लिया।
 विस्तृत चर्चा के बाद बैठक में यह निर्णय लिया गया कि 1) रविवार को लाक आउट हटा दी जाएगी और बाग़ान का काम हमेशा की तरह शुरू हो जाएगा।  2) अगले सोमवार 13/05/2024 को श्रमिकों को पिछले सप्ताह का बकाया साप्ताहिक वेतन या तलब दिया जाएगा।  3) असम सरकार द्वारा बराक घाटी के चाय श्रमिकों की दैनिक मजदूरी 228/- रुपए की दर से घोषित की गई, जिसका भुगतान 01/10/2023 से किया जाना था, जिसे अगले बुधवार 15/05/2024 से लागू किया जाएगा। इस बैठक में बागान प्रबंधन और चाय श्रमिकों द्वारा सर्वसम्मति से एक एमओयू पर हस्ताक्षर किया गया।

Share this post:

Leave a Comment

खबरें और भी हैं...

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल