पिछले आठ साल में पूर्वोत्तर में जो विकास हुआ, वह 50 साल में नहीं हुआ: अमित शाह

0
70
पिछले आठ साल में पूर्वोत्तर में जो विकास हुआ, वह 50 साल में नहीं हुआ: अमित शाह

ईटानगर। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को नामसाई में एक हजार करोड़ रुपये की विभिन्न विकास परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। इस मौके पर उन्होंने एक जनसभा में कहा कि मोदी सरकार पूर्वोत्तर भारत के विकास के लिए तीन सूत्रीय एजेंडे पर काम कर रही है।

केन्द्रीय मंत्री शाह अपने अरुणाचल प्रदेश के दौरे के दूसरे दिन नामासाई में एक जनसभा में कहा कि पिछले आठ सालों में अरुणाचल प्रदेश के सर्वांगीण विकास के लिए मुख्यमंत्री पेमा खांडू और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की डबल इंजन की सरकार ने जो किया है, वह पिछले 50 सालों में नहीं हुआ। शाह ने कहा कि अरुणाचल प्रदेश भारत माता के मुकुट में एक मणि की तरह दैदीप्यमान है और यह पवित्र भूमि कई प्रकार की संस्कृतियों के मिलन की भूमि है।

शाह ने कहा कि आठ सालों में प्रधानमंत्री 50 से ज़्यादा बार पूर्वोत्तर क्षेत्र में आ चुके हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रक्षा क्षेत्र से जुड़ी दो बड़ी प्रोफ़ेशनल यूनिवर्सिटी, राष्ट्रीय फ़ॉरेन्सिक साइंस यूनिवर्सिटी और राष्ट्रीय रक्षा यूनिवर्सिटी को आगे बढ़ाया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने ऐसी भ्रष्टाचार रहित व्यवस्था बनाने का काम किया है, जिससे केन्द्र सरकार का पैसा अरुणाचलवासियों और पूर्वोत्तर के लोगों तक पहुंच सका है। शाह ने कहा कि पूर्वोत्तर को एक जमाने में आतंकवाद, उग्रवाद और बम धमाकों के कारण सुर्खियां मिलती थी लेकिन आज टूरिज्म, विकास, इंफ्रास्ट्रक्चर, अलग-अलग बोलियों, भाषाओं, नृत्य, संगीत और खान-पान के कारण जाना जाता है। उन्होंने कहा कि पूर्वोत्तर के आठों राज्यों में सड़क और रेल कनेक्टिविटी हो गई और अरुणाचल प्रदेश को बहुत जल्द ही अपना एयरपोर्ट भी मिलेगा। उत्तरपूर्व में विद्रोह और टेररिज्म की घटनाओं में 89 प्रतिशत की कमी लाने का काम मोदी के नेतृत्व में भारत सरकार ने किया है।

उन्होंने कहा कि नरेन्द्र मोदी सरकार ने पूर्वोत्तर भारत के लिए तीन सूत्रीय एजेंडा बनाया है। इनमें यहां की बोलियों, भाषाओं, नृत्य, संगीत, खानपान, सांस्कृतिक विविधता और कुदरती सौंदर्य को संरक्षित व संवर्धित करना और दुनियाभर के टूरिज्म को हमारे खूबसूरत नॉर्थईस्ट और अरुणाचल में लाना हैं। इसके अलावा पूरे नॉर्थ ईस्ट के राज्यों के सभी विवादों को समाप्त कर शांति प्रस्थापित करना और उत्तरपूर्व को विकसित क्षेत्र के रूप में देखना हैं। शाह ने कहा कि 50 साल से असम और अरुणाचल के बीच सीमा विवाद है और मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि जल्दी ही यह सीमा विवाद समाप्त होने जाएगा।

उल्लेखनीय है कि अमित शाह ने सभी हितधारकों के साथ एक बैठक कर सुरक्षा स्थिति और विकास कार्यों की समीक्षा भी की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here