बीकानेर से गुवाहाटी जा रही एक्सप्रेस पटरी से उतरी 6 की मौत, 50 से ज्यादा घायल

0
469

बीकानेर गुवाहाटी एक्सप्रेस बंगाल के उत्तरी भाग में मैनागुरी के पास डोमोहानी के पास पटरी से उतर गई है। ट्रेन पटना से गुवाहाटी जा रही थी।

हादसा गुरुवार (13 जनवरी 2022) की शाम को पश्चिम बंगाल के मयनागुड़ी के पास हुआ. दुर्घटना में 6 लोगों की मौत हो गयी है. 50 से अधिक लोगों के घायल होने की सूचना है. घायलों को जलपाईगुड़ी ले जाया गया है. बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने हादसे पर शोक जताया है. राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ममता बनर्जी से फोन पर बात की है. रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने हादसे को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया है. वह शुक्रवार को घटनास्थल का दौरा करेंगे.

ट्रेन में कुल 1053 यात्री सवार थे. राजस्थान के बीकानेर से 177 लोग ट्रेन में सवार हुए थे. वहीं, बिहार के पटना, बख्तियारपुर और दानापुर से 103 यात्री सवार हुए थे. पटना जंक्शन के चीफ रिजर्वेशन सुपरवाइजर राजेश कुमार ने बताया कि 98 यात्री पटना से ट्रेन में चढ़े थे,. जबकि 3 लोग मोकामा से और 2 लोग बख्तियारपुर से सवार हुए थे. बताया जा रहा है कि एनडीआरएफ की दो टीमें सिलीगुड़ी से रवाना हुई है. कई अन्य सीनियर ऑफिसर्स को भेजा गया है. गैस कटर से बोगियों को अलग करने की कोशिश की जा रही है.

 

रेल मंत्री ने कहा है कि वह खुद इस घटना पर नजर बनाये हुए हैं. तेजी से राहत एवं बचाव अभियान चलाने के निर्देश दिये गये हैं. वह खुद इसकी निगरानी कर रहे हैं. रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दुर्घटना के बारे में जानकारी दी है. रेल मंत्री ने ऐलान किया है कि दुर्घटना में मारे गये लोगों के निकट परिजनों को 5-5 लाख रुपये दिये जायेंगे. वहीं, गंभीर रूप से घायलों को 1 लाख रुपये और सामान्य रूप से गायल लोगों को 25-25 हजार रुपये दिये जायेंगे. बताया गया है कि राहत एवं बचाव अभियान दल ने अब तक 40 लोगों को सुरक्षित निकाला है.

 

भारतीय रेलवे की ओर से बयान जारी कर कहा गया है कि शाम को करीब 5 बजे हुए हादसे में गुवाहाटी-बीकानेर एक्सप्रेस अप ट्रेन के 12 कोच प्रभावित हुए हैं. डीआरएम और एडीआरएम घटनास्थल के लिए रवाना हो गये हैं. उनके साथ एक्सीडेंट रिलीफ ट्रेन और मेडिकल वैन भी भेजा गया है. हादसे की उच्चस्तरीय जांच के आदेश दिये गये हैं. साथ ही हेल्पलाइन नंबर (03612731622, 03612731623) भी जारी कर दिये गये हैं.

समाचार एजेंसी एएनआई ने जो तस्वीरें जारी की है, उसमें दिख रहा है कि ट्रेन का एक डिब्बा सामने वाले डिब्बे पर चढ़ गया है. उस डिब्बे को काफी नुकसान पहुंचा है, ऐसा फोटो में स्पष्ट दिख रहा है. बहुत से यात्री ट्रेन से अपने सामान के साथ नीचे उतर गये हैं और बाहर में खड़े हैं. एक तस्वीर में ऐसा भी लग रहा है कि एक शख्स तेजी से ट्रेन की तरफ दौड़ रहा है.

इतना ही नहीं, कई डिब्बे ट्रेन से अलग होकर पलट (Bogies Overturned) गये हैं और पटरी के पास स्थित ढलान पर गिरे दिख रहे हैं. एएनआई ने जो ट्वीट किया है, उसमें कहा है कि गुवाहाटी-बीकानेर एक्सप्रेस 15633 अप ट्रेन गुरुवार की शाम को करीब 5 बजे दुर्घटनाग्रस्त हुई. समाचार लिखे जाने तक किसी के हताहत होने के बारे में कोई आधिकारिक जानकारी नहीं मिल पायी है.

गुवाहाटी-बीकानेर एक्सप्रेस में सवार यात्रियों ने कहा कि अचानक एक झटका महसूस हुआ और कई बोगी ट्रेन से अलग होकर पलट गये. कई लोग घायल हुए हैं. हालांकि, इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है. बताया जा रहा है कि बीकेनार-गुवाहाटी एक्सप्रेस के 4-5 डिब्बे पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी जिला में स्थित मयनागुड़ी के निकट पलट गये. ट्रेन पटना से गुवाहाटी की तरफ जा रही थी. राहत एवं बचाव अभियान शुरू कर दिया गया है.

03564 255190, 050 34666 and 0361-273162, 2731622, 2731623

यह हादसा मेनागुड़ी के पास शाम पांच बजकर पांच बजे हुआ है। हादसे के कारणों का अभी पता नहीं चल सकता है। स्थानीय प्रशासन और स्थानीय लोगों की मदद से बचाव और राहत कार्य पहुंचाया जा रहा है। हादसे को लेकर रेलवे ने हेल्पलाइन नंबर जारी किया है जो 8134054999 है। इसके अलावा APDJ के कंट्रोल रुम का हॉटलॉइन नंबर है: रेलवे : 050 34666, BSNL : 03564 255190। लोग इन नंबर पर कॉल कर अपने परिजनों के बारे में पता कर सकते हैं।

हादसे में ट्रेन संख्या 15633 (बीकानेर-न्यू जलपाईगुड़ी) एक्सप्रेस की 12 बोगियां क्षतिग्रस्त हुई हैं। आसपास के अस्पतालों में व्यवस्था की जा रही है। स्थानीय लोग घायलों को ट्रेन की बोगियों से बाहर निकाल रहे हैं। भारतीय रेलवे ने बयान जारी करते हुए कहा कि गुवाहाटी-बीकानेर एक्सप्रेस आज शाम करीब पांच बजे पटरी से उतर गई। 12 कोच प्रभावित हुए हैं। डीआरएम और एडीआरएम दुर्घटना राहत ट्रेन और मेडिकल वैन के साथ घटनास्थल पर पहुंच गए हैं। अंधेरा होने की वजह से यहां जनरेटर भी मंगवाए गए हैं।

 

4 कोच पटरी से उतर गए हैं। आसपास के इलाके से रेसक्यू ट्रेन को भी भेजा गया है जो लोगों को ऊधर से रेस्क्यू करेगी। इसके अलावा कटिहार से भी एक ट्रेन को भेजा गया है जहां से करीब 4 घंटे यहां पहुंचने में लगते हैं। इस बीच पीएम मोदी ने हादसे को लेकर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री से बात की है।

 

बचाव और राहत कार्य इसलिए भी चुनौतीपूर्ण है क्योंकि बोगियों की खिड़कियों से बाहर निकालने में दिक्कत हो रही है। जलपाईगुड़ी के एसपी ने टाइम्स नाउ को बताया कि 15 घायलों को अस्पताल भेजा गया है।अंधेरा होने की वजह से रेस्क्यू ऑपरेशन में कुछ दिक्कतें आ सकती है। हालांकि यहां पर रोशनी के हर संभव इंतजाम किए गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here