ब्रह्मपुत्र घाटी के साथ साथ बराक घाटी में भी उल्लेखनीय रूप से आगे बढ़ने के लिए विभिन्न परियोजनाओं को लागू किया गया है-मुख्यमंत्री

0
569
ब्रह्मपुत्र घाटी के साथ साथ बराक घाटी में भी उल्लेखनीय रूप से आगे बढ़ने के लिए विभिन्न परियोजनाओं को लागू किया गया है-मुख्यमंत्री

शंकरी चौधुरी, हाइलाकान्दी, 23 दिसंबर:
ब्रह्मपुत्र घाटी के साथ साथ बराक घाटी में भी उल्लेखनीय रूप से आगे बढ़ने के लिए विभिन्न परियोजनाओं को लागू किया गया है। भाजपा के नेतृत्वाधीन राज्य सरकार ने राज्य में भ्रष्टाचार और आतंकवाद को दमन करने में कामयाब हुए हैं, ऐसा दावा किया असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनवाल ने।
आज हाइलाकान्दी जिला उपायुक्त कार्यालय के सभागार में आयोजित समीक्षा बैठक के बाद, मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनवाल ने संवाद माध्यम के प्रतिनिधियों को केंद्र एवं राज्य सरकार के सड़क- पुलों से लेकर बिजली कनेक्शन, सौभाग्‍य परियोजना, जल जीवन मिशन, पीएम आवास योजना, स्‍वच्‍छ भारत अभियान, उज्‍ज्वला परियोजना सहित कई विकासमूलक परियोजनाओं के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि समीक्षा बैठक में बराक घाटी के तीनों जिलों के जिला उपायुक्त के द्वारा दिए गए तथ्यों में इसकी जानकारी सामने आई। उन्होंने कहा कि बराक घाटी के तीन जिलों के कई लाख लोगों का विकास परियोजनाओं से लाभ हुआ है। भाजपा सरकार के समय सबसे अधिक विकास कार्य बराक घाटी के तीन जिलों में किया गया है जो कांग्रेस सरकार के समय में कभी नहीं किया गया, उन्होंने ऐसा दावा किया।
प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के सबका साथ- सबका विकास, सबका विश्वास इस नीति के माध्यम से आसाम के सभी जाति-भाषा गोष्टी के लोगों के बीच समन्वय के माध्यम से सामाजिक जीवन को मजबूत करने के लिए शुरू की गई यात्रा को सफलतापूर्वक आगे बढ़ाने में सक्षम है। आने वाले दिनों में भी उन्होंने बराक के विकास में लोगों का सहयोग मांगा।

मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनवाल ने बुधवार बराक घाटी के तीन जिला हाइलाकान्दी, काछार एवं करीमगंज के उपायुक्तों के साथ सरकारी योजनाओं एवं परियोजनाओं की समीक्षा की। हाइलाकान्दी जिला उपायुक्त कार्यालय के सभागार में आयोजित समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री ने विभिन्न सरकारी योजनाओं और परियोजनाओं की समीक्षा करते हुए जिला उपायुक्तों को केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं को लागू करने में सामूहिकता और अपनेपन की भावना विकसित कर जिलों का व्यापक रूप से दौरा कर लोगों को अक्सर संबोधित करने और एक कठोर कार्य शैली अपनाने के लिए कहा। उन्होंने सौभाग्‍य योजना की समीक्षा करते हुए उपायुक्तों एवं एपीडीसीएल के अधिकारियों को लोगों को निर्बाध बिजली और गुणवत्‍ता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने तीन जिलों के स्वच्छ भारत मिशन की भी समीक्षा की और उपायुक्तों को व्यक्तिगत घरेलू लैट्रीन के निर्माण में तेजी लाने के लिए कहा। सोनोवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा प्रस्तावित प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 2022 तक सभी के लिए आवास सुनिश्चित करने के लिए उपायुक्तों को सभी प्रयासों करने के लिए कहा। उन्होंने हाइलाकान्दी जिला उपायुक्त मेघ निधि दाहाल से वन भूमि में रहने वालों के लिए हरे भरे वातावरण के साथ एक आदर्श गांव बनाने का आग्रह किया, जिसमें सभी प्रकार की सुविधाएं प्रदान की गईं हो। सोनवाल ने दक्षिण रेंज के डीआईजी एवं तीनों जिलों के एसपी से ड्रग विक्रेताओं पर सख्ती से कार्रवाई करने के लिए कहा। इसके अलावा
बाद में मुख्यमंत्री ने 7 वीं बीएसएफ के डीआईजी दक्षिणी रेंज, एसपी और कमांडेंट के साथ कानून व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा की। उन्होंने करीमगंज जिले के लाठीटिला-डुमाबारी में भारत-बांग्लादेश सीमा पर स्मार्ट बाड़ लगाने के काम का जायजा लिया।
समीक्षा बैठक में पर्यावरण एवं वन मंत्री परिमल शुक्लबैद्य, विधायक सुजामुद्दीन लस्कर और निजामुद्दीन चौधुरी, जिला विकास आयुक्त, अतिरिक्त उपायुक्त, जिला परिषद के सीईओ और तीन जिलों के विभिन्न विभागों के जिला प्रमुख उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here