भारत ने पारी और 25 रन से जीता चौथा टेस्ट, सीरीज में 3-1 से इंग्लैंड को पीटा

0
620
भारत ने पारी और 25 रन से जीता चौथा टेस्ट, सीरीज में 3-1 से इंग्लैंड को पीटा

नई दिल्ली। Ind vs Eng 4th Test: अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में भारत और इंग्लैंड के बीच चार मैचों की टेस्ट सीरीज का आखिरी मुकाबला खेला गया। इस मैच में भारत को पहली पारी में 160 रन की लीड मिली थी, लेकिन दूसरी पारी में इंग्लैंड की टीम सिर्फ 135 रन पर ऑलआउट हो गई और उसे पारी व 25 रन से हार मिली। इस जीत के साथ भारत ने चार मैचों की टेस्ट सीरीज में 3-1 से जीत दर्ज कर ली और वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंच गई।

मैच की दूसरी पारी में इंग्लैंड को आउट करने में सबसे बड़ी भूमिका आर अश्विन और अक्षर पटेल ने निभाई और दोनों ने 5-5 विकेट लिए। दूसरी पारी में इंग्लैंड की तरफ से डेनियर लॉरेंस ने 50 रन की पारी खेली और अन्य बल्लेबाज कुछ नहीं कर पाए। इस मुकाबले में इंग्लैंड ने पहली पारी में 205 रन बनाए थे जबकि टीम इंडिया ने पहली पारी में 365 रन बनाए थे तो वहीं इंग्लैंड दूसरी पारी में 135 पर धराशाई हो गई।

160 रन की बढ़त का पीछा करते हुए इंग्लैंड को दूसरी पारी में भी अच्छी शुरुआत नहीं मिली। आर अश्विन ने लगातार दो गेंदों पर दो बल्लेबाजों को आउट किया। अश्विन ने पहले जैक क्रॉले को 5 रन के निजी स्कोर पर अजिंक्य रहाणे के हाथों कैच आउट कराया और फिर अगली ही गेंद पर जॉनी बेयरेस्टो को भी रोहित शर्मा के हाथों कैच आउट कराकर बिना खाता खोले पवेलियन भेज दिया। तीसरा विकेट डॉम सिब्ले के रूप में गिरा जो तीन रन बनाकर रिषभ पंत के हाथों कैच आउट हुए।

बेन स्टोक्स ने पिछली पारी में अर्धशतक लगाया था,लेकिन दूसरी पारी में सिर्फ दो रन पर वो अक्षर पटेल की गेंद पर विराट कोहली के हाथों लपके गए। पांचवीं सफलता अक्षर पटेल ने दिलाई, जिन्होंने ओली पोप को 15 रन के निजी स्कोर पर रिषभ पंत के हाथों स्टंप आउट कराया। छठे विकेट के रूप में जो रूट पवेलियन लौटे, जिनको आर अश्विन ने 30 रन के निजी स्कोर पर lbw आउट किया।

अक्षर पटेल की गेंद पर स्लिप में अजिंक्य रहाणे ने एक लाजवाब कैच लेकर विकेटकीपर बल्लेबाज बेन फोक्स को वापस भेजा। फोक्स और लॉरेंस के बीच की साझेदारी को तोड़ अक्षर ने इंग्लैंड की उम्मीदों को झटका दिया। इसके ठीक बाद इस गेंदबाज ने डॉम बेस को विकेट के पीछे रिषभ पंत के हाथों कैच करवाया। जैक लीच 2 रन बनाकर आउट हुए। डेनियल लॉरेंस 50 रन बनाकर आर अश्विन की गेंद पर क्लीन बोल्ड हो गए।

मैच के तीसरे दिन भारतीय बल्लेबाज वॉशिंग्टन सुंदर और अक्षर पटेल ने आठवें विकेट के लिए 50 रन की साझेदारी की। ये साझेदारी यहीं नहीं रुकी। दोनों ने 100 रन की साझेदारी भी पूरी की। इसके बाद अक्षर पटेल ने एक रन चुराने के चक्कर में अपना विकेट खो दिया। वे 43 रन बनाकर रन आउट हो गए और अपने पहले टेस्ट अर्धशतक से चूक गए। नौवें विकेट के रूप में इशांत शर्मा पवेलियन लौटे, जो बेन स्टोक्स की गेंद पर lbw आउट हो गए।

आखिरी विकेट के रूप में मोहम्मद सिराज पवेलियन लौटे। उन्हें बेन स्टोक्स ने क्लीन बोल्ड कर दिया। इस तरह दूसरे छोर पर वॉशिंग्टन सुंदर 96 रन बनाकर नाबाद रहे और अपने टेस्ट करियर के पहले शतक से चूक गए।

इस मुकाबले की बात करें तो इंग्लैंड की टीम के कप्तान जो रूट ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी चुनी थी और टीम 205 रन पर ढेर हो गई थी। इसके बाद भारतीय टीम ने मोर्चा संभाला और मैच के पहले दिन के आखिर में और दूसरे दिन जमकर बल्लेबाजी की। रिषभ पंत ने दमदार शतक ठोका, जबकि वॉशिंग्टन सुंदर ने अर्धशतक जड़ा। वहीं, रोहित शर्मा 49 रन बनाकर आउट हो गए, लेकिन उन्होंने टीम को अच्छी स्थिति में पहुंचा दिया था, क्योंकि भारतीय टीम के लिए ये मुकाबला काफी अहम है।

भारतीय टीम को अगर आइसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल मैच खेलना है तो फिर इस मुकाबले को कम से कम ड्रॉ तक पहुंचना होगा। वहीं, अगर भारत ये मुकाबला जीत जाता है तो फिर शान से 18 जून से लंदन के लॉर्ड्स में होने वाले विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में न्यूजीलैंड से भिड़ेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here