मंत्री परिमल शुक्लवैद ने हाइलाकांदी जिला प्रशासन के साथ कोविड-19 स्थिति की समीक्षा की

0
138

मंत्री परिमल शुक्लवैद ने हाइलाकांदी जिला प्रशासन के साथ कोविड-19 स्थिति की समीक्षा की

शंकरी चौधुरी, हाइलाकांदी, 1 जून: राज्य के वन पर्यावरण, आबकारी एवं मत्स्य पालन मंत्री परिमल शुक्लवैद्य ने जनप्रतिनिधियों से अपील की है कि वे ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड मरीजों के टीकाकरण के साथ-साथ सरकारी इलाज के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए आगे आएं। उन्होंने कोबिद स्थिति का जायजा लेने के लिए मंगलवार को हाइलाकांदी में जनप्रतिनिधियों एवं प्रशासन के उच्च पदस्थ अधिकारियों के साथ एक बैठक की। उन्होंने कहा कि ग्रामीण इलाकों में कोविड से संक्रमित अनेक मरीजों की पहचान करने में काफी देर हो चुकी है। ऐसे ही मरीजों से संक्रमण के काफी बढ़ने की संभावना है। इसलिए संक्रमण पर रोक लगाने का उपाय यह है कि जल्द से जल्द पॉजिटिव की पहचान कर सरकारी चिकित्सा व्यवस्था के पास जाए। मंत्री ने कहा कि हाइलाकांदी जिला कोविड मरीज का चिकित्सा के बिस्तर अभी भी खाली है।ऑक्सीजन की कमी नहीं है। इसके अलावा, दवाओं और कोविड की चिकित्सा आपूर्ति की कोई कमी नहीं है, फिर भी गुजरात से 50 डी-टाइप ऑक्सीजन सिलेंडर लाए जा रहे हैं।

जिलाधिकारी रोहन कुमार झा ने बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देश से हाइलाकांदी शहर एवं जिले के चाय बागानों में टेस्ट एवं टीकाकरण पर जोर दिया जा रहा है। बैठक में उपस्थित स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को संबोधित करते हुए मंत्री शुक्लवैद ने कहा कि जिला अस्पतालों में इलाज करा रहे किसी भी मरीज की हालत बिगड़ने से पहले उसे शिलचर मेडिकल कॉलेज अस्पताल भेजा जाए। बैठक में बताया गया कि जिले में कोविड के इलाज के लिए 500 बेड के साथ ही 163 ऑक्सीजन सिलेंडर हैं। जिले में 25 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर हैं और कोविड चिकित्सा के लिए 860 और बेड बनाए गए हैं। बैठक में जिला उपायुक्त को पंचदश वित्त आयोग से प्राप्त राशि का 10 प्रतिशत जिले में कोविड संक्रमण की रोकथाम एवं कोविड मरीजों के इलाज पर खर्च करने को भी कहा गया है। आज की बैठक में जिले के तीन विधायक यथाक्रम से सुजाम उद्दीन लश्कर, निजाम उद्दीन चौधुरी व जाकिर हुसैन लश्कर, डीडीसी रंजीत कुमार लश्कर तथा सामाज कर्मी मून स्वर्णकार, मिलन दास प्रमुख उपस्थित थे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here