राष्ट्रीय प्रतिभा मंच का वार्षिक काव्य कार्यक्रम ऑनलाइन संपन्न

0
173
31 मई – राष्ट्रीय प्रतिभा मंच का वार्षिक काव्य कार्यक्रम के  अंतर्गत दिनांक 30 मई 2021 को शाम 6:30 से 8:30 तक आनलाइन जुम पर आयोजित किया गया। जिसमें 23 कवि और कवियत्रियों ने भाग लिया और इसके अलावा कई श्रोतागण भी उपस्थित थे । कार्यक्रम का शुभारंभ राम प्रसाद दुबे द्वारा दीप प्रज्वलन से किया गया । मन्ना साह द्वारा गायत्री मंत्र प्रस्तुति  की और बेबी रजक द्वारा विषय तथा उद्देश्य व्याख्या की गई। जिसमें उन्होंने यह कहा कि ,यह कार्यक्रम पूरे देशवासियों के लिए समर्पित  है, जिनसे उन्हें इस  कोरोना काल में हिम्मत मिले और वे इससे लड़ने की जज्बा बढे। इसके साथ ही राष्ट्रीय प्रतिभा  मंच की अध्यक्षा बेबी रजक ने  कोरोना महामारी से काल की गाल में   समा चुके  सभी लोगों को  श्रद्धांजलि  दी। जिन्होंने असम  और इस देश के लोगों में जागरूकता जगाने का काम किया था। जिसमें साहित्यकार और मीडिया के प्रसिद्ध लोग शामिल थे। उनकी आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन धारण किया गया और इसके बाद कार्यक्रम शुरू किया गया। भोपाल से कवि एवं गीतकार गीतेश्वार घायल जी ,पंजाब से अज़ीज़ श्रेय, कोलकाता से अमिताभ पाइन, गुवाहाटी से राम प्रसाद दुबे जी ,जाकिर हुसैन जी एवं तिनसुकिया से लल्लन प्रसाद गुप्ता, गौतम बरठाकुर, दुमदुमा  से रितु अग्रवाल, सुनीता गोयल, मन्ना साह, लल्लन गुप्ता तथा धौला से कृष्णा साहनी, एवं दिनजान से बेबी रजक ने अपनी अपनी कविताएं बहुत ही सुंदर रूप से प्रस्तुत की जिसमें गीटेश्वर जी की” प्रेम निवेदन पाती”, और कृष्णा साहनी की” कर दो कॉरोना का काम तमाम काफी सराही गई। ज़ाकिर जी ने  कॉरोना का कहर सुनाया। श्रोता के रूप में कई, हस्ती भी शामिल थे। विनोद झिलका, जन्मजेय प्रजापति, मधु गुप्ता, विकास धर ,सुरेश जी,एवम् कई और श्रोता ओं ने कार्यक्रम का लुफ्त उठाया।
कार्यक्रम के समापन की घोषणा मन्ना साह द्वारा की गई तथा अंत में अध्यक्ष बेबी रजक ने कार्यक्रम के व्यवस्थित रूप से संचालन हेतु धन्यवाद दिया तथा इसी तरह से सुचारू रूप से चलाने के लिए सब से आग्रह किया। विश्व में प्रेम और सौहार्द्र  की भावना की अलख जगाने में कवि एवं साहित्यकारों को मुख्य भूमिका निभाने के लिए आह्वान किया गया। कारोना से लड़ने की हिम्मत  और  जागरूकता  लोगों में जगाने के  साथ प्रस्तुत  कार्यक्रम का सफलता पूर्वक  समापन किया गया ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here