फॉलो करें

रेमल के असर से गुवाहाटी का जनजीवन अस्त-व्यस्त

25 Views

गुवाहाटी,  बंगाल की खाड़ी में बना साल का पहला चक्रवाती रेमल तूफान के असर से पूरे राज्य के साथ गुवाहाटी में बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। सोमवार की रात से लगातार बारिश और तेज हवाओं ने मंगलवार को सामान्य जनजीवन अस्त्र-व्यस्त कर दिया।

तेज हवा और मूसलाधार बरसात के कारण गुवाहाटी के कई जगह पर बड़े-बड़े पेड़ गिर पड़े। साथ ही बिजली के खंभों के गिरने से बिजली व्यवस्था भी पूरे दिनभर बाधित रही। पेड़ों के गिरने से अनेक जगह पर यातायात ठप हो गया। चक्रवात का प्रभाव पूरे गुवाहाटी में महसूस किया गया है। जिससे बिजली सेवाएं प्रभावित हुई हैं और रेल सेवाएं भी बाधित हुई।

पेड़ के गिरने के कारण गुवाहाटी की कई सड़के अवरुद्ध हुई। आपदा प्रबंधन दल, एसडीआरएफ, यातायातात पुलिस तुरंत सड़कों को साफ करने में जुट गए। तूफान के कारण बड़े पैमाने पर बिजली की कटौती हुई। तेज हवाओं के चलते और भारी बरसात के कारण बिजली लाइनों को काफी नुकसान पहुंचा है। जिससे कई इलाके अंधेरे में है। बिजली सेवाएं बहाल करने के प्रयास जारी है। लेकिन मौसम की प्रतिकूल परिस्थितियों के कारण इसमें बाधा रही है। बिजली के बिना जनजीवन भी अस्त व्यस्त हो गया है साथ में इंटरनेट सेवा भी पूरे दिन भर बाधित रही।

सोमवार रात से मंगलवार पूरे दिन लगातार बरसात के कारण गुवाहाटी के कई इलाकों में भारी जल भराव के कारण सड़कें पानी में डूबा रहीं। जिस कारण लोगों को चलने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। कई जगह पर होर्डिंग टूट कर गिर गये हैं। भरलुमुख में एक विशाल पेड़ गिरने के कारण सड़क अवरुद्ध हो गयी। बाद में उसे हटाया गया।

रेमल के प्रभाव से फैंसी बाजार इलाके में ब्रह्मपुत्र नद पर बन रहे सेतु के सामने से बहकर दो जहाज पांडू घाट पर पहुंच गये। पांडू स्थित विद्यामंदिर स्कूल के किनारे में लगा एक पेड़ टूटकर सड़क पर पड़ा जिस कारण रात से इस सड़क पर यातायात ठप हो गया। स्कूल को भी काफी नुकसान हुआ। गौहाटी विश्वविद्यालय स्थित आसू के शहीद बेदी पर एक बड़ा सा पेड़ गिरने के कारण शहीद वेदी टूट गयी। बिजली न होने के कारण गौहाटी विश्वविद्यालय के छात्रावास में पानी की समस्या उत्पन्न हो गयी है। जालुकबारी 17 नंबर राष्ट्रीय राजमार्ग पर तूफान के चलते एक बड़ा पीपल का पेड़ सड़क पर गिर गया। सुबह यातायात पुलिस एवं अन्य पुलिसकर्मी की सहायता से सड़क को साफ किया गया। इसके बाद पुनः वाहनों का परिचालन शुरू हो पाया। गुवाहाटी के खानामुख में “बोहागी विदाई” बिहू के लिए बनाया गया बड़ा पंडाल टूट के गिर गया जिस कारण पूरे कार्यक्रम को रद्द करना पड़ा।

वहीं तूफान के कारण सुबह के समय कई घर, स्कूल, कार्यालय, मंदिर, लग्जरी कार, आटो आदि पर भी बड़े-बड़े पेड़ गये। इस दौरान पलाशबाड़ी इलाके में पेड़ की चपेट में आने से एक महिला की मौत हो गयी। वहीं अन्य कई लोग घायल हुए हैं। तूफान और बरसात के कारण पूरे राज्य के साथ ही गुवाहाटी में सामान्य जनजीवन बुरी तरह से प्रभावित हुआ है।

Share this post:

Leave a Comment

खबरें और भी हैं...

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल