फॉलो करें

लखीपुर में चतुष्कोणीय संघर्ष होता हुआ नजर आ रहा

201 Views

प्रेरणा ब्यूरो लखीपुर, 18 मार्च: लखीपुर विधानसभा क्षेत्र में चुनाव प्रचार अभियान की शुरुआत हो गई है। लखीपुर में इस चुनाव में चतुष्कोणीय लड़ाई की प्रबल संभावना है। असम जातीयतावादी परिषद के उम्मीदवार अलीम उद्दीन मजुमदार भी इसमें पीछे नहीं हैं। उन्होंने जनता जनार्दन के आशीर्वाद के साथ मैदान में कदम रखा है। लखीपुर के अल्पसंख्यक और आदिवासी समुदाय ने पिछली कांग्रेस सरकार के दौरान कोई विकास नहीं देखा। इसलिए, वह कृषि विकास, औद्योगिक विकास, लखीपुर उप-मंडल, पेयजल समस्या के समाधान आदि के कार्यान्वयन के लिए असम नेशनल असेंबली की ओर से चुनाव लड़ेंगे। उन्होंने कहा कि उन्हें जीतने का एक सौ प्रतिशत विश्वास है। इस बीच, कांग्रेस उम्मीदवार मुकेश पांडे ने कहा है कि इस बार चुनाव में बाहरी लोगों और भूमिपुत्रों के बीच की लड़ाई होगी।

भाजपा सरकार ने पिछले चुनाव में वादा किया था कि चाय समुदाय की मजदूरी 350 रुपये होगी। लेकिन आज तक अपना वादा नहीं निभाया। उन्होंने कहा कि इस बार असम में महागठबंधन की सरकार बनेगी। इसलिए भाजपा की नींद हराम हो गई है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को समझ नहीं आया कि सांप्रदायिक पार्टियां कैसी थीं। भाजपा का कहना है कि मिया वोट की जरूरत नहीं होगी। धोती पहनने वाले लोगों को वोटों की जरूरत नहीं है। इस चुनाव में कौन सी सांप्रदायिक पार्टी परिलक्षित होगी। उन्होंने कहा कि पहला लक्ष्य लखीपुर सब डिवीजन को पूर्ण रूप देना है, यदि वह जीतते है। दूसरा है लखीपुर और बिन्नाकांडी पुल। तीसरा, हम पीने के पानी की समस्या का समाधान करेंगे। इस बीच, निर्दलीय उम्मीदवार थोयबा सिंह ने चुनाव प्रचार में कहा कि हम सिंडिकेट से लखीपुर को बचा बचा लेंगे। भूमिपुत्र प्रचार कर रहा है कि बाहरी लोगों के बीच लड़ाई होगी। अगर वह चुनाव जीत जाते हैं, तो लखीपुर में एक कृषि केंद्र बनाया जाएगा।

Share this post:

Leave a Comment

खबरें और भी हैं...

मारवाड़ी सम्मेलन की तिनसुकिया तथा तिनसुकिया महिला शाखा के आतिथ्य में अखिल भारतवर्षीय मारवाड़ी सम्मेलन के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवकुमार लोहिया और महामंत्री कैलाश पति तोदी सहित प्रांतीय अधिकारियों का तिनसुकिया में भव्य स्वागत

Read More »

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल