फॉलो करें

लखीमपुर 27 फरवरी अनु झा की मौत संदेह के घेरे में

96 Views
धेमाजी जिले के गोगामुख थाना क्षेत्र के बरदोई बाम चाय बागान के सह प्रबंधक सुरेंद्र कुमार ओझा की पुत्री अनु झा की मौत शक के दायरे में है। कल सुबह 5 बजे ओझा जी के दामाद प्रवीण कुमार झा ने फोन कर उन्हें तत्काल तिनसुकिया सरकारी अस्पताल में बुलाया। वहाँ जाने पर उन्होंने अस्पताल में अपनी बेटी अनु को मृत अवस्था में देखा। प्रवीण ने बताया कि अनु ने खुदकुशी कर ली है। ओझा जी अपनी बेटी के मृत शरीर को बरदोई बाम लेकर आये और दाह संस्कार किया। तिनसुकिया से प्रवीण के माता पिता भी बरदोई बाम बागान आये थे और वे भी दाह संस्कार में शामिल हुए है।
 अनु की शादी अक्टूबर 2016 में झारखंड निवासी फूल झा के पुत्र प्रवीण कुमार झा से हुई थी। प्रवीण के घर मे काम करनेवाली लड़की बेबी बाउरी ने बताया कि घटना के दिन  25 फरवरी को दिन में प्रवीण ने अनु के साथ मार पीट की थी। पड़ोसियों के अनुसार  प्रवीण अक्सर पत्नी के साथ मार पीट करता था।प्रवीण नेस्ले कंपनी का कर्मचारी है और अपनी पत्नी अनु के साथ तिनसुकिया के काली मंदिर के निकट बेंग पुखूरी के उमेश चंद्र पाठक के किराए के मकान में रहता है। घटना कल सुबह 3 बजे के करीब की है पर अनु के पिता को 5 बजे यानि दो घण्टे बाद प्रवीण ने अस्पताल में बुलाया।ओझा जी के अनुसार उनकी बेटी ने आत्महत्या नही की है बल्कि उसकी हत्या की गई है।अनु को जानने पहचानने वालो को भी यकीन नहीं हो रहा है कि वह कोई गलत कदम उठा सकती है। वह स्वभाव से सरल शांत और उच्च शिक्षिता थी। अनु अपने पीछे अपनी बेटी को छोड़ गई है।
अनु के पिताजी ने तिनसुकिया थाने में एक मामला दर्ज किया है जिसका न 44 है। पोस्टमार्टम की रिपोर्ट अभी तक नही मिली है।पुलिस को चाहिये कि वह प्रवीण के मोबाइल फोन को लेकर उसे खंगाले और गहन जांच करे प्रवीण और पड़ोसियों से पूछ ताछ करे ताकि सच सामने आये। इस घटना पे अखिल असम भोजपुरी परिषद लखीमपुर जिला समिति की ओर से अध्यक्ष सुभाष चंद्र यादव व जिला सचिव बाबु देव पांडे द्वारा संयुक्त रूप से निन्दा करते हुए जिला प्रशासन से निष्पक्ष  जांच मांग की है।

Share this post:

Leave a Comment

खबरें और भी हैं...

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल