विश्वनाथ जिले के उपायुक्त का चाय बागान को सख्त निर्देश: कोविड मरीजों का उचित इलाज कराएं, नहीं तो भुगतेंगे सजा

0
143
विश्वनाथ जिले के उपायुक्त का चाय बागान को सख्त निर्देश: कोविड मरीजों का उचित इलाज कराएं, नहीं तो भुगतेंगे सजा
विश्वनाथ चारिआली, 01 जुलाई:- विश्वनाथ जिले के चाय बागानों में कोविड की स्थिति को नियंत्रित करने के लिए जिला प्रशासन ने उच्च प्राथमिकता दी है | विश्वनाथ जिला  उपायुक्त प्रणव कुमार शर्मा ने चाय बगानों में स्थित कोविड रोगी देखभाल केंद्र में चिकित्साधीन रोगी को सटीक चिकित्सा सेवा प्रदान करने के लिए बगान अधिकारियों को कठोर निर्देश जारी किया गया है| इस मामले में लापरवाही बरतने वालों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।
“सभी अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने के लिए निर्देशित किया गया है कि कोविड रोगी देखभाल केंद्र में इलाज कर रहे रोगियों को उचित चिकित्सा देखभाल दी जाए।  इस संबंध में किसी भी लापरवाही के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी, ”उपायुक्त ने  बगान अधिकारियों को लिखे एक पत्र में उक्त बात की चेतावनी दी।  चाय बागान क्षेत्र में फिलहाल 43 कोविड केयर सेंटर हैं और यहां करीब 120 मरीजों का इलाज चल रहा है।”चाय बागानों की स्थिति चिंताजनक है।  स्थिति को नियंत्रित करने के लिए प्रशासन 24 घंटे से अथक प्रयास कर रहा है।  इसलिए हम कोविड रोगी देखभाल केंद्र  एवं  अस्पताल में इलाज करा रहे मरीजों के मामले में बगान अधिकारियों की ओर से किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं करेंगे|
ऐसी किसी भी घटना की सूचना मिलने पर हम सख्त कार्रवाई करने के लिए मजबूर होंगे, ”उपायुक्त प्रणव कुमारशर्मा ने कहा।जिलाधिकारी ने कार्यपालक मजिस्ट्रेटों को चाय बागानों का नियमित रूप से दौरा कर कोविड रोगी केयर सेंटरों का दौरा करने के साथ ही कोविड मरीजों को मिलने वाले भोजन एवं अन्य सुविधाओं को समझने का निर्देश दिया | प्रशासन ने व्यापक परीक्षण, कोविड रोगियों के अलगाव और 18 वर्ष से अधिक उम्र के पूरे चाय बागान के सार्वजनिक टीकाकरण पर विशेष जोर दिया है।
दूसरी ओर, चाय बागानों में टीकाकरण कार्यक्रम को बढ़ाया गया है और 21 जून से प्रतिदिन 1,200 से अधिक लोगों को टीका लगाया गया है।  संक्रमित व्यक्तियों को तत्काल पृथक करने के उद्देश्य से कोविड जांचों की संख्या भी बढ़ाकर 600 कर दी गई है।  बिश्वनाथ जिले की कुल आबादी के करीब एक लाख लोग चाय बागानों में रहते हैं और अब तक 32 फीसदी लोगों को कोविड-19 का टीका लगाया जा चुका है.|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here