फॉलो करें

शब्दाक्षर’ का मासिक काव्य अनुष्ठान सम्पन्न

10 Views
कोलकाता/लखीमपुर- खीरी,उ.प्र.:मंगलवार को अखिल भारतीय साहित्यिक संस्था शब्दाक्षर (रजि.) लखीमपुर-खीरी का मासिक काव्य-अनुष्ठान जिलाध्यक्ष शशिकान्त मिश्र ‘शशि’ के संयोजन में बड़ी धूम धाम से श्री बाबू राम बाल उद्यान में सम्पन्न हुआ। जिसकी अध्यक्षता संत कुमार बाजपेयी ‘सन्त’ ने की मुख्य अतिथि डॉ द्वारिका प्रसाद रस्तोगी रहे संचालन जिला सचिव आलोक तिवारी ने किया सरस्वती पूजन के उपरान्त शशिकान्त मिश्र ‘शशि’ की सरस्वती वंदना हुई और ‘शब्दाक्षर गीत’ गाया गया फिर विभिन्न बिन्दुओं पर साहित्यिक चर्चा हुई आगन्तुक सभी कवियों ने अपने विचार व्यक्त किए।  राष्ट्रीय अध्यक्ष रवि प्रताप सिंह ने सफल आयोजन हेतु कोलकाता संस्था मुख्यालय से अपनी शुभकामनाओं सहित बधाई का पत्र भेजा, जिसे पढ़ कर सभा में सुनाया गया। प्रदेश अध्यक्ष श्यामल मजूमदार ने भी सफल आयोजन की बधाई फोन द्वारा प्रेषित की। तदुपरांत काव्यपाठ हुआ जिसमें काव्यपाठ करते हुए
 रमाकान्त चौधरी ने कहा –
ये सियासत अब हमारा क्या करेगी,
संविधान हमने विधिवत पढ़ लिया है।
नंदी लाल निराश ने कुछ यूं पढ़ा –
आप शामिल हो गए सरकार में इतना बहुत।
काम आखिर मिल गया दरबार में इतना बहुत।।
शशिकान्त मिश्र ‘शशि’ ने पढ़ा –
गिरगिट रंग बदलते अपना, लेकिन समय  लगाकर।
बदले   पानी   बोली   सारे, कुछ   दूरी  अपनाकर ।
मानव जिसको चुनकर भेजे, उसका  हाल न पूछो –
पलक झपकते नेता बदले, तनिक न समय गँवाकर।
द्वारिका प्रसाद रस्तोगी ने कहा –
दाग चादर के कहीं कुछ यूं झलकने लग गए।
चेहरे की रंगत हुई कम दर्पण बदलने लग गए ।।
आलोक तिवारी आलोक ने कहा –
नयनो की ज्योति से भी प्यारी हैं बेटियां ।
मां-बाप रूपी बाग की क्यारी हैं बेटियां।।
कवि मुनेन्द्र प्रताप सिंह मंजुल ने पढ़ा –
प्यार के अश्रु से अनलिखे भाव को,
खत वो पढ़ने को व्याकुल सदी रह गई।
श्रीकान्त तिवारी कान्त ने कुछ यूं कहा-
तन पर राख लपेटे लेटे माथे पर घिस कर चन्दन।
निरु उपाय मैं करता आया आशाओं का अभिनन्दन।।
“मधुकर शैदाई ने कहा –
हीरों की अपने देश में कमी नहीं कोई।
इनको तराशने की जरूरत है आपको।
तमगे  जरूर  आयेंगे  भारत में दोस्तों –
सिस्टम सुधारने की जरूरत है आपको।।
सन्त कुमार बाजपेयी ‘सन्त’ ने पढ़ा –
  लग गए बिल्कुल ठिकाने जो हुआ अच्छा हुआ।
 आप आए  अब  बचाने  जो  हुआ अच्छा  हुआ।।
   अन्त में अध्यक्षीय उद्बोधन के बाद जिलाध्यक्ष ‘शब्दाक्षर’ लखीमपुर खीरी शशिकान्त मिश्र ने सभी आमंत्रित कवियों का आभार प्रकट किया तथा सभा को अगले आयोजन तक स्थगित करने की घोषणा की।

Share this post:

Leave a Comment

खबरें और भी हैं...

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल