शिलचर में स्वर्गीय गौरी शंकर चक्रवर्ती का श्रद्धांजलि अनुष्ठान आयोजित

0
715

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ प्रचारक स्वर्गीय गौरी शंकर चक्रवर्ती का पिछले 24 मार्च को स्वर्गवास हो गया। आज उनका श्रद्धांजलि अनुष्ठान सायं 5:00 बजे बंग भवन शिलचर में आयोजित किया गया। कार्यक्रम में संघ के अखिल भारतीय कार्यकारिणी के सदस्य भगैय्याजी ने स्व. गौरी दा के बारे में अपने विचार व्यक्त करते हुए उन्हें एक महान देशभक्त और समाज के लिए समर्पित व्यक्तित्व बताया। उन्होंने कहा कि पूर्वोत्तर में संघ कार्य के विस्तार में गौरी दा का बहुमूल्य योगदान था। उन्होंने कहा कि गौरीशंकर चक्रवर्ती की निष्ठा और दृढ़ संकल्प स्वयंसेवकों में आना चाहिए। उन्होंने स्वयंसेवकों से गौरीदा के दिखाए रास्ते पर चलने का आग्रह किया।

मंचासीन अतिथियों ने कार्यक्रम के प्रारंभ में स्वर्गीय गौरी शंकर चक्रवर्ती और भारत माता के चित्र पर पुष्प अर्पण करके कार्यक्रम का शुभारंभ किया। सभा कक्ष के बाहर स्वर्गीय गौरी शंकर चक्रवर्ती के चित्र पर श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए स्वयंसेवक सभा कक्ष में प्रवेश कर रहे थे। नगर कार्यवाह शंकर दास ने अपने स्वागत वक्तव्य में गौरी दा के साथ बिताए क्षणों का स्मरण करते हुए उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी।

तत्पश्चात प्रांत संघचालक ज्योत्सनामय चक्रवर्ती, वरिष्ठ भाजपा नेता कविंद्र पुरकायस्थ, संघ के वरिष्ठ कार्यकर्ता शंकर भट्टाचार्य, विश्व हिंदू परिषद के प्रांत सचिव सपन शुक्लवैद, मजदूर संघ के सोमेश विश्वास, राष्ट्र सेविका समिति की श्रीमती कृष्णा भट्टाचार्य, संघ के वरिष्ठ प्रचारक बलराम दास राय, संस्कृति सुरभि के सुभ्रांशु शेखर भट्टाचार्य आदि वक्ताओं ने गौरीशंकर चक्रवर्ती के महान व्यक्तित्व का स्मरण किया और अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की।

मंचासीन नगर संघचालक प्रणव पाल चौधरी ने भी अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की। अनुष्ठान में उपस्थित प्रमुख व्यक्तियों में संघ के वरिष्ठ प्रचारक हरि साधन कुंवर, राम सिंह जी, रणज्योति गोस्वामी, पूर्ण चंद मंडल, संजय देव, विजय पाल, विश्व हिंदू परिषद के शांतनु नायक और राष्ट्र सेविका समिति की क्षेत्र प्रचारिका सुपर्णा दे सहित विविध संगठनों के अनेक वरिष्ठ व्यक्ति उपस्थित थे। सभी ने गौरीदा के प्रति भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की और उनके मोक्ष की कामना की। रूप ज्योति देव ने धन्यवाद ज्ञापन किया। कार्यक्रम का संचालन वरिष्ठ कार्यकर्ता प्रसेनजीत राय चौधरी ने किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here