फॉलो करें

संस्कृत भारती का जनपद सम्मेलन 7 जनवरी को

53 Views
प्रे. स. शिलचर 4 जनवरी: संस्कृत भारती के कार्य को गाँव-गाँव तक पहुँचाने और उसका विस्तार करने के उद्देश्य से इस वर्ष भारत के सभी आधिकारिक जिलों में जनपथ सम्मेलनों का आयोजन किया गया है। इस योजना के एक भाग के रूप में, दक्षिण कछार संस्कृत जनपथ सम्मेलन 07 जनवरी रविवार को सुबह 10 बजे महिला महाविद्यालय, शिलचर में आयोजित किया जाएगा।  इस उद्देश्य से एक स्वागत समिति का गठन किया गया है।  आशा है कि कछार के गांवों से संस्कृत प्रेमी लोग इस सम्मेलन में भाग लेंगे।  इस सम्मेलन में कुमार भास्कर वर्मा संस्कृत एवं प्राचीन अध्ययन विद्यालय, नलबाड़ी के चांसलर प्रोफेसर पी आर जोशी, असम विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर राजीव मोहन पंत उपस्थित रहेंगे। इस सम्मेलन में  कई संस्कृत विद्वान और गणमान्य व्यक्ति भी उपस्थित रहेंगे।  सम्मेलन में सांस्कृतिक कार्यक्रम, विज्ञान प्रदर्शनी, वस्तु प्रदर्शनी आदि होंगे।  हम सम्मेलन को सफल और सार्थक बनाने के लिए दुनिया भर से लोगों को इसमें शामिल होने के लिए आमंत्रित करते हैं।
संस्कृत भारती एक अखिल भारतीय संगठन है जो संस्कृत भाषा के प्रचार-प्रसार के लिए समर्पित है।  वर्ष 1981 में तमिलनाडु के संस्कृतनिष्ठ सामाजिक कार्यकर्ता पद्मश्री चामू कृष्ण शास्त्रीजी के नेतृत्व में संस्कृत भारती का कार्य प्रारंभ हुआ था। वर्तमान में पूरे भारत में केरल से कश्मीर और गुजरात से मणिपुर तक दो हजार से अधिक स्थानों संस्कृत भारती कार्य और सम्पर्क हैं।  संस्कृत भारती का अंतिम और अंतिम लक्ष्य संस्कृत के सर्वांगीण विकास के माध्यम से भारत का विकास है। भारतीय विरासत, संस्कृति और गौरव के प्रतीक के रूप में संस्कृत भाषा को फिर से स्थापित करने के लिए सक्रिय रूप से काम कर रहे हैं।  संस्कृत को पुनः जनभाषा बनाने के उद्देश्य से यह संस्था पूरे भारत में नियमित रूप से संस्कृत सम्भासन शिविर, पत्राचार, बाल शिक्षण केन्द्र, साप्ताहिक मेलन, सरला प्रकाश केन्द्र संस्कृत शिक्षक प्रशिक्षण कक्षाएँ, भाषा बोधन कक्षाएँ आदि आयोजित करती है।  हिंदी, बंगाली, तमिल, मलयालम, कन्नड़, पंजाबी, असमिया, उड़िया, मराठी और गुजराती जैसी बारह भाषाओं के माध्यम से संस्कृत शिक्षा के प्रसार के लिए भी प्रावधान किए गए हैं। इस आयोजन में स्वागत समिति दक्षिण काछाड़ संस्कृत भारती के अध्यक्ष प्रोफेसर सत्यब्रत चौधुरी, महासचिव कृष्ण ज्योति देव व महिला अध्यक्षा दक्षिण काछाड़ संस्कत भारती के डा. सन्धानी नाथ सम्पूर्ण टीम इस आयोजन को सफल बनाने के प्रयासरत हैं।

Share this post:

Leave a Comment

खबरें और भी हैं...

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल