फॉलो करें

हिंदीभाषी समन्वय मंच शिलचर द्वारा वनभोजन के माध्यम से बांडू जंगल में मंगल 

116 Views

चंद्रशेखर ग्वाला, लखीपुर ६ जनवरी : दीवान चाय बागान के सब डिवीजन बाण्डु चाय बगान के नवीन ‘पिकनिक स्पाट ‘ पर आज हिंदीभाषी समन्वय मंच शिलचर, हिंदीभाषी युवा मंच शिलचर, बराक चाय जन जागृति समिति तथा हिंदीभाषी महिला समिति के लगभग सत्तर से अधिक महिला एवं पुरुष सदस्यों ने एक साथ सामुहिक बनभोजन का आंनद उठाया। आज के इस बनभोजन के लिए सुबह आठ बजे शिलचर एन. आई. टी.मोड़ से एक बस में सदस्यों का यात्रा आरंभ हुई, जो मंगल पांडे चौक, मेडिकल, काठाल प्वायंट , हॉस्पिटल रोड, काशीपुर प्वायंट, पैलापूल ,दिवान चाय बागान आदि जगहों से शेष सदस्यों को शामिल करते हुए बाण्डु स्थित बनभोजन स्थल पहुंचे। दिनभर के आनंदपुर्ण कार्यक्रमों में महिला, पुरुष मिलकर नास्ता बनाकर सेवा करना, रंसोई बनाना, म्युजिकल चेयर, कबड्डी, रस्साकस्सी, अंत्याक्षर, गीत नृत्य और भी कई खेलों का आंनद उठाया। आज के बनभोजन कार्यक्रम में बाण्डु चाय बगान के प्रबंधक, दिवान चाय बगान इलाके का एन के गौर, सुमन गौर, शचि कुमारी आदि ने भरपूर सहयोग किया। उक्त कार्यक्रम के मुख्य संयोजक प्रेरणा भारती समाचार पत्र के कर्णधार, दिलीप कुमार, संपादक श्रीमती सीमा कुमार थे। बनभोजन में आए लोगों ने प्रत्येक वर्ष ऐसा कार्यक्रम का आयोजन करने लिए प्रशंसा करते नहीं थके। कुछ सदस्यों ने घाटी के हिंदीभाषी लोगों के एकजुटता बनाए रखने तथा हिंदीभाषी के लिए दिलीपजी के विभिन्न कार्यकलापों तथा हाल में असम सरकार द्वारा हिंदी शिक्षकों की निविदा सूचना जारी करने पर दिलीप कुमार को धन्यवाद दिया। भोजनोपरांत अपराह्न लगभग पौने चार बजे सभी लोग वहां से शिलचर के लिए रवाना हुए। कुल मिलाकर आज का बनभोजन कार्यक्रम काफी उत्साह पुर्ण रहा। कार्यक्रम में शामिल प्रमुख सदस्यों में आचार्य आनंद शास्त्री, राम नारायण नोनिया, अनंत लाल कुर्मी, सुभाष चौहान, चंद्रमा प्रसाद कोईरी, प्रदीप गोस्वामी, विजय नोनिया, दीपक प्रजापति, श्रीमती नीलम गोस्वामी, राजकमल गिरी, श्रीमती पूर्णिमा ग्वाला, श्रीमती सीमा पासी व चंद्रशेखर ग्वाला उपस्थित थे।

Share this post:

Leave a Comment

खबरें और भी हैं...

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल