हिमंत विश्वशर्मा के मुख्यमंत्री बनने के बाद राज्य में पहली लिंचिंग की घटना. ” नौ गिरफ्तार ” :

हमारे अपर असम ब्यूरो चीफ मनोज कुमार ओझा द्वारा

0
48
हिमांत बिस्वा सरमा के मुख्यमंत्री बनने के बाद राज्य में पहली लिंचिंग की घटना. " नौ गिरफ्तार " : तिनसुकिया एसपी
तिनसुकिया,13 जून : ऐसे समय में जब पुर्वोत्तर के मुख्य राज्यों में से एक असम में भारतीय जनता पार्टी और उसकी सहयोगी दलों की हाल ही में दूसरी बार सरकार बनी है और नवनिर्वाचित योग्य और विद्वान मुख्यमंत्री श्री हिमंत विश्वशर्मा जी  ने कोरोना वायरस बीमारी, ड्रग्स,, गौ -तस्करी, अशिक्षा आदि के खिलाफ युद्ध स्तर पर काम कर रहे हैँ, शनिवार को एक युवक की मरने की ख़बर सदमे में डालने वाली है जिसे गुस्साई भीड़ ने निर्ममता से पिटा और वह अस्पताल में दम तोड़ दिया. घटना ऊपरी असम के तिनसुकिया जिले की है. शरत मोरान,34, जो कोरदोईगुड़ी 1 नम्बर गांव का निवासी था, आरोपों के अनुसार उसे शनिवार की तड़के गौ -चोर के संदेह में, बर्बरता से मारा गया. घटना जिले के कोर्जोगा बोरपोथार गांव की है जो जिले के बाघजान पुलिस स्टेशन, दुमदुमा विधानसभा क्षेत्र और लखीमपुर संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत पड़ता है. तिनसुकिया जिले के पुलिस अधीक्षक श्री देबोजीत देओरी ने प्रेरणा भारती को रविवार की शाम घटना की जानकारी देते हुए बताया,
” सभी दोषियों को गिरफ्तार कर लिया गया है.12 लोगों को डिटेन किया गया था जिसमें नौ को गिरफ्तार कर लिया गया है. पांच को पुलिस रिमांड पर लेने हेतु अप्लाई किया जायेगा, बाकी न्यायिक हिरासत में भेजे जायेंगे. गांव में फाॅर्स गस्ती कर रही है. स्थिति बिल्कुल सामान्य है. मैं स्वयं वहाँ पहुँचा और लोगों से बात किया. एडिशनल एस पी हेडक्वार्टर में स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम का गठन कर दिया गया है और चार्ज शीट शीघ्र दाखिल किया जायेगा. ” इससे पहले आज उन्होंने कहा था, ” हमने घटना से संबंध में 12 लोगों को डिटेन किया है. और उनसे पूछताछ कर रहे हैं हमने पीड़ित के शरीर पर कट मार्क्स पाए हैँ और पोस्ट मोर्टम रिपोर्ट की जाँच कर रहे हैं. ” उन्होंने आगे कहा, ” हमलोग ने इंडियन पेनल कॉड के सेक्शन 302 ( हत्या ) और 34 ( कॉमन इंटेंशन के साथ अपराध ) के तहत केस रजिस्टर किया है. पीड़ित के चाचा ने एफआईआर दर्ज कराई है. पुलिस ने बताया की अभी तुरत यह कहना मुश्किल है की वह कैटल लिफ्टिंग में इन्वॉल्व था या नहीँ. सूत्रों के अनुसार मोरान को बघजान पुलिस द्वारा उद्धार किया गया और उसे दुमदुमा एफ आर यू हॉस्पिटल में दाखिल कराया गया जहाँ उसकी मृत्यु हो गई. पुलिस के अनुसार वह अपने मित्र के घर उस रात गया था जहाँ उसे कैटल लिफ्टर होने के संदेह पर उठाया गया और बुरी तरह पिटा गया. घटना से संबंधित एक वीडियो भी वायरल हुआ है. इस घटना की राज्य ही नहीँ देशव्यापी प्रतिक्रिया हुई है और आम लोग, बुद्धिजीवी और कई संस्थाओं ने इस पर चिंता व्यक्त की है. 
तिनसुकिया गुवाहाटी से 500 किलोमीटर दूर है. बघजान पुलिस स्टेशन तिनसुकिया से लगभग 50 किलोमीटर दूर है. 2018 में कारबी आंगलोंग में दिल दहला देने वाली लिंचिंग की घटना हुई  थी जिसमें नीलोतपल और अभिजीत मारे गए थे. पिछले 18 वर्षों में असम 161 लोगों को डायन समझ कर मार दिया गया.2019 में तत्कालीन समाजकल्याण मंत्री प्रमिला रानी ब्रह्म ने असेंबली में इसकी जानकारी दी थी. हेट क्राइम की एक अन्य घटना में बिस्वानाथ चारी अली टाउन में एक बुजुर्ग को प्रताड़ित किया गया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here