IND vs AUS: बल्लेबाजों ने फिर डुबाेई लुटिया, टीम इंडिया साल में सिर्फ एक बार बना पाई 300 रन

0
576
IND vs AUS: बल्लेबाजों ने फिर डुबाेई लुटिया, टीम इंडिया साल में सिर्फ एक बार बना पाई 300 रन

नई दिल्ली. भारतीय टीम का कम स्कोर पर आउट होना अब ट्रेंड सा बनता जा रहा है. हमारे बल्लेबाजों ने एक बार फिर गेंदबाजों की मेहनत पर पानी फेर दिया है. पूरी भारतीय टीम (Indian Cricket Team) ऑस्स्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे टेस्ट (IND vs AUS 3rd Test ) में 244 रन बनाकर आउट हो गई है. वह अब मेजबान टीम से पहली पारी में 94 रन से पिछड़ गई है. उस पर मैच हारने और बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी सीरीज में पिछड़ने का खतरा मंडरा रहा है.

भारतीय बल्लेबाजों (Indian Batsman) का खराब प्रदर्शन सिडनी टेस्ट (Sydney Test) में भी जारी रहा. बल्लेबाजों के खराब प्रदर्शन का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि टीम इंडिया (Team India) टेस्ट मैचों में एक साल में सिर्फ एक बार 300 का स्कोर बना पाई है. भारतीय टीम ने पिछले 13 महीने में 5 टेस्ट मैच खेले हैं. इन मैचों की 9 पारियों में भारत का सर्वोच्च स्कोर 326 रन है.

भारतीय टीम नवंबर 2019 के बाद सिर्फ दूसरी टेस्ट सीरीज खेल रही है. उसने फरवरी 2020 में न्यूजीलैंड का दौरा किया था. भारतीय टीम ने उस सीरीज में दो टेस्ट मैच खेले और दोनों हार गई. भारत ने तब पहले टेस्ट में 165 व 191 और दूसरे टेस्ट में 242 व 124 रन बनाए थे.
भारतीय टीम न्यूजीलैंड के बाद ऑस्ट्रेलिया से टेस्ट सीरीज (India vs Australia 2020) खेल रही है. वह इस सीरीज में भी बड़ा स्कोर बनाने में नाकाम रही है. भारत और ऑस्ट्रेलिया (India vs Australia) के बीच सीरीज का पहला मैच एडीलेड और दूसरा मैच मेलबर्न में हुआ. भारत ने एडीलेड में 244 और 36 का शर्मनाक स्कोर बनाया और मैच हार गया. इसके बाद मेलबर्न में भारतीय टीम ने पहली पारी में 326 और दूसरी पारी में 70/2 रन बनाए और मैच जीता.

भारतीय टीम मेलबर्न में जीत के बाद तीसरा टेस्ट मैच खेलने के लिए सिडनी पहुंची. वह यहां सिडनी टेस्ट की पहली पारी में 244 रन बनाकर आउट हो गई. इससे उस पर हार का दबाव बन गया है. ऑस्ट्रेलिया ने अपनी दूसरी पारी में 2 विकेट पर 103 रन बना लिए हैं. इस तरह उसकी भारत पर कुल बढ़त 197 रन हो गई है.

तीसरे टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलिया की बढ़त देखकर लग रहा है कि भारत को 300 रन से बड़ा टारगेट मिल सकता है. संभव है कि यह 400 रन से भी ज्यादा हो. भारतीय बल्लेबाजों के एक साल के प्रदर्शन को देखकर कहा जा सकता है कि लक्ष्य आसान नहीं होने वाला है. अब देखना होगा कि टीम इंडिया के दिग्गज बल्लेबाज सिडनी टेस्ट की चौथी पारी में साहसिक खेल दिखाते हैं या फिर समर्पण करते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here