अटल बिहारी वाजपेयी के नाम जाना जाएगा साहित्य मनीषी उपवन पार्क

प्रकृति संरक्षण को एक आदत में बदलना चाहिए : मुख्यमंत्री

0
429
प्रकृति संरक्षण को एक आदत में बदलना चाहिए : मुख्यमंत्री

कछार (असम), 10 जून (हि.स.)। मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने रविवार को कछार जिला के धोलई में साहित्य मनीषी जैव विविधता पार्क का उद्घाटन किया और पार्क में पौधे लगाए।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर पार्क के नामकरण की घोषणा करते हुए स्थानीय निवासियों को वन विभाग के साथ जैव विविधता पार्क के संरक्षण और रखरखाव की जिम्मेदारी लेने का आह्वान किया। सोनोवाल ने कहा कि यह पार्क प्रकृति और पर्यावरण के संरक्षण के लिए काम करने के लिए समाज के बच्चों और युवा सदस्यों को प्रेरित करने में सक्षम होगा। उन्होंने पत्रकारों से बच्चों के बीच प्रकृति के बारे में जागरूकता पैदा करने का आह्वान किया।

प्रदूषण मुक्त असम के निर्माण के लिए राज्य सरकार की प्रतिबद्धता पर प्रकाश डालते हुए, सोनोवाल ने राज्य सरकार द्वारा निर्धारित 10 करोड़ पेड़ों के कुल लक्ष्य में से अब तक राज्य में 8.5 करोड़ पेड़ लगाने के लिए वन विभाग को धन्यवाद दिया। उन्होंने सक्रिय सहभागिता के लिए विभाग की सराहना की जिसके परिणामस्वरूप असम में 222 वर्ग किलोमीटर में वन कवर बढ़ गया और वनस्पतियों और जीवों की सफलतापूर्वक रक्षा की गई। उन्होंने कहा कि प्रकृति के संरक्षण को एक आदत में बदलना चाहिए।

कार्यक्रम में वन और पर्यावरण मंत्री परिमल शुक्लबैद्य, असम विधानसभा के उपाध्यक्ष अमीनुल हक लस्कर, सांसद डॉ राजद्वीप रॉय, विधायक मिहिर कांति सोम, किशोर नाथ, दिलीप पॉल, राजदीप ग्वाला, अमर सिंह जैन, डीजीपी भास्कर ज्योति महंत भी मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here