फॉलो करें

इतिहास के पन्नों में 11 जूनः काकोरी कांड के सूत्रधार पं. राम प्रसाद ‘बिस्मिल’ की कुर्बानी, याद करता है हर हिन्दुस्तानी

16 Views

देश-दुनिया के इतिहास में 11 जून की तारीख तमाम अहम वजह से दर्ज है। यह तारीख भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के लिए खास है। इसी तारीख को 1897 को स्वाधीनता संग्राम के योद्धा पंडित राम प्रसाद ‘बिस्मिल’ का जन्म उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर जिले में हुआ था। यह वह समय था जब पूरे देश में अंग्रेजों की सरकार के खिलाफ आंदोलन जोरों पर था। देश भर में ब्रिटिश हुकूमत के खिलाफ विरोध की ऐसी आंधी चल पड़ी थी जिसे रोकना किसी के वश में नहीं रह गया था। बिस्मिल के मन में बचपन से ही ब्रिटिश हुकूमत के खिलाफ नफरत भर गई थी। वे हर हाल में देश को आजाद देखना चाहते थे। वह भारत से ब्रिटिश हुकूमत को उखाड़ फेंकने के लिए बने संगठन हिंदुस्तान रिपब्लिकन एसोसिएशन के संस्थापकों में से एक थे।

बिस्मिल की दोस्ती अशफाक उल्लाह खान, चन्द्रशेखर आजाद, भगत सिंह, राजगुरु, सुखदेव और ठाकुर रोशन सिंह जैसे क्रांतिकारियों से थी और इन सबने मिलकर अंग्रेजों की नाक में दम करना शुरू कर दिया था। ब्रिटिश हुकूमत को दहला देने वाले काकोरी कांड को बिस्मिल ने अपने इन्हीं साथियों की मदद से अंजाम दिया था। इतना ही नहीं बिस्मिल अपनी कविताओं के माध्यम से भी लोगों को ब्रिटिश हुकूमत के खिलाफ जोश भरने का काम किया करते थे। सरफरोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है। देखना है जोर कितना बाजुए-कातिल में है। इस कविता के माध्यम से उन्होंने युवाओं में जोश भरने का काम किया था। उन्होंने बिस्मल अजीमाबादी नाम से शायरी की।

काकोरी कांड स्वतंत्रता संग्राम की एक स्वर्णिम घटनाओं में से एक है। 9 अगस्त 1925 को रामप्रसाद बिस्मिल सहित करीब 15 क्रांतिकारियों ने ब्रिटिश सरकार के खजाने को काकोरी रेलवे स्टेशन पर लूट लिया था। इस घटना में रामप्रसाद बिस्मिल, अशफाक उल्लाह खान, चन्द्र शेखर आजाद और ठाकुर रोशन सिंह भी शामिल थे। क्रांतिकारियों ने ट्रेन से 8000 रुपये लूटे थे। इस घटना में 50 लोगों को गिरफ्तार किया गया। डेढ़ साल मुकदमा चलने के बाद अशफाक उल्लाह खान, पंडित राम प्रसाद ‘बिस्मिल’ और राजेंद्र नाथ लाहिड़ी को 19 दिसंबर 1927 को फांसी की सजा दे दी गई थी। फांसी के समय बिस्मिल की उम्र मात्र 30 साल थी।

महत्वपूर्ण घटनाचक्र

1770: कैप्टन जेम्स कुक ने ऑस्ट्रेलिया के ग्रेट बैरियर रीफ की खोज की।

1776: अमेरिका की स्वतंत्रता का घोषणा पत्र तैयार करने के लिए समिति बनाई गई।

1866ः इलाहाबाद हाई कोर्ट की स्थापना।

1921: ब्राजील में महिलाओं को चुनाव में मतदान का अधिकार मिला।

1935: एडविन आर्मस्ट्रांग ने पहली बार एफएम का प्रसारण किया।

1940: यूरोपीय देश इटली ने मित्र देशों के खिलाफ लड़ाई की घोषणा की।

1955: पहले मैग्निशियम जेट हवाई जहाज ने उड़ान भरी।

1964ः भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू की इच्छानुसार उनकी अस्थियों की भस्म पूरे देश में बिखेरी गई।

1987: 160 वर्षों में पहली बार मारग्रेट थैचर लगातार तीसरी बार ब्रिटिश प्रधानमंत्री बनीं।

2001: अमेरिका के ओकलाहोमा शहर में 1995 में एक संघीय इमारत पर बम फेंकने वाले टिमोथी मैग्वेग को मौत की सजा दी गई।

2003ः कोर्निकोवा महिला टेनिस की सबसे सुन्दर खिलाड़ी घोषित।

2006ः नेपाली संसद ने आमराय से नरेश के वीटो अधिकार को समाप्त किया।

2007ः फिजी के अपदस्थ प्रधानमंत्री लाडसेनिया करासे को राजधानी सुवा में प्रवेश की इजाजत मिली।

2008ः ब्रह्मोस सुपरसोनिक मिसाइल को भारतीय वायुसेना में शामिल किया गया।

2008ः भ्रष्टाचार के आरोप में जेल में बंद बांग्लादेश की पूर्व प्रधानमंत्री शेख हसीना वाजेद रिहा।

2010: अफ्रीका ने 19वें फुटबाल विश्व कप टूर्नामेंट की मेजबानी की। यह पहला मौका था, जब अफ्रीकी महाद्वीप में इस प्रतियोगिता का आयोजन हुआ।

जन्म

1897: भारत के प्रसिद्ध क्रांतिकारी पंडित राम प्रसाद ‘बिस्मिल’।

1909ः भारतीय विधिवेत्ता, राजनीतिज्ञ और पूर्व लोकसभा अध्यक्ष केएस हेगड़े।

1927ः मिजोरम के पूर्व मुख्यमंत्री लाल डेंगा।

1948ः बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव।

1989ः भारतीय पैरा-बैडमिन्टन खिलाड़ी मानसी जोशी।

निधन

1970ः प्रसिद्ध बंगाली पत्रकार और महिला क्रांतिकारी लीला नाग।

1983ः भारत के उद्योगपति और स्वतंत्रता-संग्राम सेनानी घनश्यामदास बिड़ला।

1997ः लंबी दूरी के प्रसिद्ध तैराक मिहिर सेन।

महत्वपूर्ण दिवस

-क्रांतिकारी पंडित राम प्रसाद ‘बिस्मिल’ की जयंती।

Share this post:

Leave a Comment

खबरें और भी हैं...

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल