फॉलो करें

दुमदुमा आंचलिक छात्र संस्था द्वारा आयोजित बिहू नृत्य और ढोल वादन कार्यशाला का समापन।

31 Views

दुमदुमा प्रेरणा भारती 8 अप्रैल :- दुमदुमा आंचलिक छात्र संस्था के सौजन्य से एवं रुपाई व डैसा शाखा छात्र संस्था के सहयोग से गत 21 मार्च से 1 अप्रैल तक रुपाई , कर्देर्ईगुड़ी , डैसा और बाघजान में बिहू नृत्य और ढोल वादन कार्यशाला का आयोजन किया गया था । अखिल असम छात्र संस्था के सहायक सचिव राणा सोनार ने  दुमदुमा  नगर खेल मैदान में आयोजित समापन समारोह का उद्घाटन करते हुए कहा कि छात्र छात्राओं को पढ़ाई के साथ साथ खेल और सांस्कृतिक में भी आगे आना चाहिए और  राज्य में आसू द्वारा जगह जगह पर ऐसा कार्यक्रम किया जा रहा है। इस दौरान दुमदुमा आंचलिक छात्र संस्था के साधारण सचिव समुज्जवल बोरा सोनोवाल की उपस्थिति में  रुपाई , कर्देर्ईगुड़ी , डैसा और बाघजान  कार्यशालाओं के प्रशिक्षुओं ने वर्गों में बिहू नृत्य और ढोल वादन किया  । जिसमें छोटी छोटी बच्चियों एवं बच्चों ने बहुत ही सुन्दर ढंग से नृत्य और ढोल वादन कर सभी का मन मोह लिया । इस समापन समारोह में अखिल असम छात्र संस्था के राज्यिक कार्यनिर्वाहक समर ज्योति गोंहाई , तिनसुकिया जिला छात्र संस्था के सभापति सत्यजीत बरगोंहाई , उपसभापति उत्तम बरुआ , साधारण सचिव प्रतिम नेउग , सलाहकार दिक्षित बेजबरुआ , सह सचिव सुरज छेत्री , कार्यनिर्वाहक सदस्य पप्पू मोरान , दुमदुमा आंचलिक छात्र संस्था के सभापति विराज गोंहाई , दुमदुमा प्रेस क्लब के सचिव मनोज बरुआ सहित अनेक सदस्यगण , असम जातियतावादी युवा छात्र परिषद के सभापति हीरक ज्योति मोरान  , मोरान छात्र संस्था के सचिव सूरज मोरान सहित अनेक गणमान्य व्यक्तियों सहित  ढोल वादन प्रशिक्षक मृदुल सैकिया , और भाइकन सोनोवाल बिहू नृत्य  प्रशिक्षक क्रमशः सीमा मोरान सैकिया  , करबी बरुआ दुवारा , रिमझिम मोरान और जोंटी मोरान को सम्मानित किया गया ।  इन सभी  कार्यशालाओं में 500 से अधिक प्रशिक्षुओं ने भाग लिया और समापन समारोह में सभी प्रशिक्षुओं को प्रमाण पत्र प्रदान किये गये।

Share this post:

Leave a Comment

खबरें और भी हैं...

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल