फॉलो करें

पूर्व विधायक दुर्गा भूमिज ने सरकार एवम् असम चाय मजदूर संघ पर लगया चाय श्रमिको की प्रताड़ना का आरोप 

49 Views
 दुमदुमा 29 सितम्बर: दुमदुमा में आज दुमदुमा प्रेस क्लब में संवाददाता सम्मेलन कर सरकार के द्वारा निशुल्क बिजली तीस यूनिट जोतिष मान योजना के अंतर्गत देने की घोषणा की थी। पर सरकार ने बिजली लगा कर अंधेरा मे रहने पर मजबूर कर दिया हैं । वाणिज्यिक मीटर होने से कारण श्रमिक आवास लाइन के श्रमिक बिल दे नहीं पा रहे हैं ।सुक्रेटीगं चाय बगान एक श्रमिक आवास लाइन में 962580 रूपये की बिल आया है। इसी तरह ढईसा जान, दै दाम, दुमुखीया, बिषाकुपी बागजान इत्यादि चाय बगान के श्रमिको का बिजली का बिल बाकी है। भूमिज ने कहा कि चाय बागानों के श्रमिको का बिजली का बिल माफ कर सरकार चाय श्रमिको के उपर अपनी मानवता दिखाये। सरकार पर आरोप लगते हुए उन्होंने कहा कि चाय जनगोष्ठी को राजनीति अधिकार से वंचित करने के लिए सरकार साजिश कर रही है ।
कुछ दिन पूर्व असम के कुछ जनगोष्ठी को स्वशासन प्रदान की पर चाय जनगोष्ठी को प्रदान नही किया।इसके बाद बोड़ो लैण्ड में आदिवासीयो को चार जिले मे चाय जनगोष्ठी को सुरक्षित श्रेणी प्रदान नही किया। सदीया ट्राईबेल बैल्ट में जगह नहीं दी गई है। असम चाय निगम गंभीर संकट से गुजर रही है।बहुत से श्रमिकों का आज तक भविष्य निधि फंड भूगतान नहीं हुआ है। चीनामारा चाय बागान, टावकाव चाय बगान,  नागनी जान, सराय देव चायबगान, शिव सागर चाय बगान, विश्वनाथ चाय बगान, करिमगंज लंगाई चाय बगान इत्यादि बागानों के श्रमिको की भविष्य निधि फंडों को जल्द से जल्द देने की मांग की है। इस समस्याओं पर ध्यान दे कर सरकार ठोस कदम उठाने की मांग की है। चाय बागान के ऊपर सरकार अनदेखी कर रही है। सरकार जल्द से जल्द इस पर ठोस कदम उठाकर समस्याओं का निराकरण करें। असम चाय मजदूर संघ पर निशाना साधते हुए पवन सिंह घटवार एव दुमदुमा के वॅतमान विधायक रूपेश गवाला पर आरोप लगाते हुए कहा कि बागान मालिक पक्ष के साथ मिलीभगत है और मालिक पक्ष के लिए काम कर रहे हैं, श्रमिको के हित के लिए नहीं।  पुजा में बोनस मलिक पक्ष के अनुसार मिलती है। इस संदभॅ में कोई टिप्पणी नहीं करते। दुगाॅ पुजा के समय बिकने के लिए रखा अवैध शराब अभी से भण्डार कर रखा हुआ है पर पुलिस प्रशासन कोई कारवाई नहीं कर रही है। इस पर पुलिस ठोस कदम उठाने की मांग की है। मूल्य वृद्धि पर कहा की निशुल्क चावल और खाते में पैसा देकर कर अपनी पीठ थपथपा रही हैं और समानो मेें मूल्य वृद्धि कर श्रमिकों को गुमराह कर रही है । पर जरूरत की समस्याओं पर ध्यान नहीं दे रही हैं। चाय बागानों के स्कुल की आज जो दुर्दशा हैै, उसके ऊपर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। हाई स्कूलों की बात सरकार द्वारा कहीं गई थी जो अभी तक तैयार नहीं हुई है। जब चुनाव आएगी उसके 1 साल पहले स्कूल खोले जाएंगे। उन्होंने कहा कि 4 साल बच्चे क्या करेंगे इस तरह का बच्चों के साथ चुनावी फायदे के लिए भविष्य से खिलवाड़ करना युक्ति पूर्ण नहीं हैै। साथ ही जल्द से जल्द स्कूल बनवाने का ठोस कदम उठाए ताकि बच्चों का शिक्षा में कठिनाई नहीं आए। उन्होंने ने कहा कि दुमदुमा टाऊन के हिन्दी भाषी अन्दर राशन कार्ड जो व्यक्ति की है, उसमे ऐसै व्यक्ति है जो गरीबी रेखा से उपर है। गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले के के पास राशन कार्ड नही है । दोहरी वोट कार्ड है । अभी की सरकार ने हाल ही में राशन कार्ड हेतु दिशा निर्देश जारी की है इस पालन करते हुए सही जाँच कर उचित लोगों को मुहैया कराई जाय।

Share this post:

Leave a Comment

खबरें और भी हैं...

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल