फॉलो करें

पूसीरे ने सवारी व मालगाड़ी वैगनों के अनुरक्षण में की वृद्धि

31 Views

गुवाहाटी, पूर्वोत्तर सीमा रेल (पूसीरे) के अधीन न्यू बंगाईगांव और डिब्रूगढ़ कारखाना ने ट्रेन के कोचों और माल वैगनों के अनुरक्षण में उल्लेखनीय वृद्धि की है। दोनों कारखानों ने चालू वर्ष के फरवरी माह में बड़ी संख्या में कोचों और वैगनों का अनुरक्षण कर ऑउटटर्न किया है।

पूसीरे के सीपीआरओ सब्यसाची डे ने मंगलवार को बताया है कि चालू वर्ष के फरवरी माह में न्यू बंगाईगांव कारखाना ने प्रति माह 50 सेट के लक्ष्य के मुकाबले 64 सेट लिंक हॉफमैन बुश (एलएचबी) और आईसीएफ (पारंपरिक प्रकार) ट्रॉलियों का इंटरमीडिएट ओवरहॉलिंग (आईओएच) किया है। इस महीने के दौरान दो पावर कारों सहित 55 कोच (27 एलएचबी और 28 आईसीएफ) की आवधिक ओवरहॉलिंग (पीओएच) भी पूरी की है। उन्होंने बताया कि 206 व्हील सेटों को व्हीललेथ से तैयार किया गया और रोलिंग स्टॉक की रुकावट को कम करने के लिए मंडलों को आपूर्ति की गई। इसके अलावा, छह वैगनों की 12 ट्रॉलियों को हाई-स्पीड ट्रॉलियों में परिवर्तित करने के साथ 154 वैगनों और छह ब्रेक वैन को आउटटर्न किया गया। इसके अलावा, प्रभावी और तेज ब्रेकिंग के लिए 46 वैगनों को पारंपरिक सिंगल पाइप एयर ब्रेक सिस्टम से ट्विन पाइप एयर ब्रेक सिस्टम में परिवर्तित किया गया।

डे ने बताया कि इसी तरह चालू वर्ष के फरवरी माह के दौरान डिब्रूगढ़ कारखाना में 20 एलएचबी कोच और 30 आईसीएफ कोचों के लक्ष्य के मुकाबले 33 एलएचबी कोच और 34 आईसीएफ कोच का आवधिक अनुरक्षण किया गया। डिब्रूगढ़ कारखाना में पारंपरिक कोचों के लिए पीओएच का आउटटर्न इस महीने के निर्धारित लक्ष्य 50 के मुकाबले 67 हुआ है। कारखाना से 614 व्हील सेट (355 एलएचबी और 259 आईसीएफ) की मरम्मत की गई। ट्रेनों में आग से बचाव के लिए कारखाना में 19 एलएचबी एसी कोच और उपयोगकर्ता डिपो में फायर डिटेक्शन सिस्टम लगाया गया। 15 कोचों में मानकीकृत फिटिंग के साथ एयर ब्रेक सिस्टम में संशोधन किया गया। फरवरी माह में डिब्रूगढ़ कारखाना द्वारा स्क्रैप निपटान 322.70 एमटी तक पहुंच गया, जो चालू वर्ष के जनवरी माह की तुलना में लगभग 160फीसदी अधिक है।

कारखाना में ट्रेन के कोच और माल वैगनों का अनुरक्षण एवं मरम्मत निर्धारित अनुरक्षण अनुसूची के अनुसार की जाती है। दोनों रोलिंग स्टॉक कारखानों ने पहले ही एलएचबी कोचों के नवीनीकरण और पीओएच क्षमता बढ़ाने के लिए कई बुनियादी ढांचे के संवर्धन कार्य किए हैं। आवधिक ओवरहॉलिंग के अलावा, निर्धारित अंतराल पर नियमित रूप से ट्रेन के कोच की मध्यवर्ती ओवरहॉलिंग भी की जाती है।

Share this post:

Leave a Comment

खबरें और भी हैं...

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल