प्रधानमंत्री और असम के मुख्यमंत्री ने जो भी वादे किए हैं, वह पूरे किए जाएंगे -भाजपा

0
99
प्रधानमंत्री और असम के मुख्यमंत्री ने जो भी वादे किए हैं, वह पूरे किए जाएंगे -भाजपा
असम में लगातार दूसरी बात सरकार बनने पर भारतीय जनता पार्टी के केंद्रीय स्तर के एक पदाधिकारी से हुई बातचीत पर आधारित एक विशेष रिपोर्ट:
असम में लगातार दूसरी बार भाजपा की सरकार बनना एक भगीरथ प्रयास है। सभी कार्यकर्ताओं ने एकजुट होकर मेहनत की, जिनको टिकट मिला उनका ग्राउंड वर्क अच्छा था। टिकट वितरण के लिए सर्वे किया गया था, जनता के विचारों को ध्यान में रखकर टिकट दिया गया था। केंद्र और प्रदेश नेतृत्व ने बहुत मेहनत किया।
विरोधी शक्तियां कॉन्ग्रेस, अल्पसंख्यक और कम्युनिस्टों का एकजुट होना एक बड़ी चुनौती थी। पिछली बार त्रिकोणीय मुकाबले में हमने कई सीट जीती थी। इस बार सीधे मुकाबले में हमारी 5-7 सीट हमारे हाथ से निकल गई। अगर माइनारटी ध्रुवीकरण नहीं होता तो भाजपा 65 से 70 सीट जीत सकती थी। पिछले 5 साल सर्वानंद सरकार ने जितना काम किया, असम में कभी नहीं हुआ। इसलिए समाज में सद्भावना थी, नकारात्मक भाव नहीं था। असम की जनता ने भरपूर सहयोग और समर्थन दिया है। ध्रुवीकरण का फायदा भाजपा को भी हुआ लेकिन कहीं-कहीं नुकसान हो गया। जहां अल्पसंख्यक मतदाता हावी थे वहां पर, जैसे बराक वैली, लोअर असम, धुबरी आदि जगहों पर नुकसान हो गया। सब ने मिलकर इतनी मेहनत की कि भाग्य ने भी साथ दिया।
वर्तमान सरकार की प्रथम वरीयता है, कोरोना मुक्त करना। सबको वैक्सीन दिया जाए और जनता को सुरक्षित किया जाए। विकास की गति को बढ़ाया जाएगा। अभी बाढ़ आने का समय है, उससे जो नुकसान होने वाला है उसके रोकथाम के लिए सरकार ने अच्छी योजना बनाई है। सत्र की सुरक्षा या गोरक्षा किसी अल्पसंख्यक के विरोध में नहीं है, विपक्ष भड़काने का प्रयास कर सकता है, थोड़ा बहुत विरोध के लिए विरोध हो सकता है।
उल्फा हो या और कोई अंडरग्राउंड शांति वार्ता होती है तो प्रदेश के विकास के लिए अच्छा है। जो भी छोटे-छोटे ग्रुप है, बातचीत के लिए सामने आए तो अच्छा होगा। प्रदेश में जितनी शांति होगी, उतना ही विकास होगा। जो भी विकास के काम में बाधक है, उनके साथ बातचीत की जाएगी। अंडरग्राउंड हो या राजनीतिक हो, सब को समझा-बुझाकर प्रदेश को विकास के रास्ते पर तेज गति से आगे बढ़ाएंगे। आज तक विकास का मॉडल नहीं रखा गया, अब लोग समझ रहे हैं, सहयोग में आ रहे हैं।
एक्ट ईस्ट पॉलिसी के तहत काम चल रहा है, असम के युवाओं को ज्यादा से ज्यादा सहायता मिले, भारत सरकार भी इसके लिए प्रयत्नशील है। रोजगार सृजन के लिए सरकार ने कहा है, वह जरूर होगा किसानों की आय दोगुनी करने के लिए कहा गया है, वह भी पूरा होगा। प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री ने जो भी आश्वासन दिया है, सब पूरा किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here