फॉलो करें

बिश्वनाथ के नवनिर्मित ठाकुरबाड़ी मंदिर का अचल प्राण प्रतिष्ठित विग्रह संपन्न

39 Views
रामदरबार, हनुमान, शिव परिवार , माता रानी तथा राधाकृष्णन के विग्रह को सनातन विधि -विधान से बनारस के पंडितों ने एक साथ किया प्राण- प्रतिष्ठा
अचल प्राण प्रतिष्ठा में हजारों श्रद्धालुओं ने एक साथ भगवान् के दर्शन कर झूम उठे
विश्वनाथ, असम 22 फरवरी :असम भूमि के गुप्त काशी विश्वनाथ के लिए आज सनातन धर्मावलंबियों के लिए ऐतिहासिक दिन है। अयोध्या में 22 जनवरी को हमारे हिंदु सनातन के लिए जिस तरह एक ऐतिहासिक दिन बन गया ,उसी प्रकार विश्वनाथ जिला के  गुप्त काशी विश्वनाथ में 22 फरवरी को हमारे नवनिर्मित ठाकुरबाड़ी के भव्य  मंदिर में अचल  प्राण प्रतिष्ठा होना  विश्वनाथवासियों के लिए एक ऐतिहासिक बन गया है। 200 साल पुराने नवनिर्मित ठाकुरबाड़ी मंदिर में होने वाले सांकेतिक मूर्तियों का बनारस के पंडितों द्वारा विधि -विधान के साथ अचल प्राण प्रतिष्ठा समारोह संपन्न हुआ ।मंदिर में विराजमान  राम, हनुमान, राधा, कृष्ण, दुर्गा और शिव की विग्रह (मूर्तियों)  को पंडितों ने पारंपरिक तरीके से  एक साथ अचल मूर्तियों में प्राण प्रतिष्ठा किया। अचल प्राण- प्रतिष्ठा पूजा  का शुभारंभ बनारस के मुख्य  पुजारी  आचार्य रंजन दुबे, रोहित शास्त्री ,अमृत शास्त्री, राकेश शास्त्री ,अभिमन्यु शास्त्री   आदि  के साथ स्थानीय पुजारी गोविन्द शास्री के संचालन में  मुख्य  यजमान  लखनलाल अग्रवाल, प्रभुनाथ सिंह अनिल हेडा, सुनील हेडा आदि के द्वारा हुआ।इधर स्थानीय पंडित  क्रमशः  लोकनाथ शास्त्री ,गोविन्द शास्त्री , नारायण उपाध्याय, देव आचार्य,उपेन्द्र उपाध्याय, लोकनाथ उपाध्याय के द्वारा गायित्री जाप, चंडी पाठ,वास्तु जाप,रामचरितमानस पाठ, श्रीमद्भागवत पाठ, रूद्राष्टाध्यायी, हनुमान कवच इत्यादि का पाठ किया गया।जानकारी के अनुसार  असम के  लखीमपुर,गोगामुख आदि के साथ देश के विभिन्न प्रांतों से श्रद्धालु पहुंचे थे।
हजारों से अधिक भक्त शामिल थे जिन्होंने जय श्री राम के नारे लगाए। भगवान् प्रभु श्री राम के भजन  में  मंदिर में असंख्य भक्त झूम उठे। विभिन्न जातीय समूहों की श्रद्धालु माताएं, महिलाएं, पुरुष, युवा और बच्चे शामिल थे। इसमें भजन, कीर्तन, घंटी बजाना, महाआरती, हनुमान चालीसा का सामूहिक पाठ, सुंदर कांड और यज्ञ समापन जैसी कई धार्मिक गतिविधियां होती है। इधर आज चारों तरफ ढोल नगाड़े , भक्तिमय भजन से  गगन के चारों दिशाएं भी भक्तिमय हो उठा। इसके बाद सभी श्रद्धालुओं को प्रसाद वितरण किया गया।इस मौके पर विश्वनाथ के विधायक प्रमोद बरठाकुर, नवनिर्मित ठाकुरबाड़ी मंदिर के अध्यक्ष शंकरलाल पारीक, सचिव व यजमान प्रभुनाथ सिंह,  पूर्व मंत्री प्रवीण हाजरिका, चैंबर ऑफ़ कॉमर्स विश्वनाथ के सचिव पंकज बोरा आदि मौजूद थे।

Share this post:

Leave a Comment

खबरें और भी हैं...

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

राशिफल