ब्लैक-व्हाइट-वर्म होल, ह्यूमन टाइम मशीन और मौत के कारण की एक ‘हाइपोथीसिस’ कहानी हृदय देबनाथ द्वारा

0
124
विवरण: “ब्लैक-व्हाइट-वर्म होल, ह्यूमन टाइम मशीन और और मौत के कारण” के उपर एक ‘हाइपोथिसिस’ कहानी भारत के असम राज्य में रहने वाले एक २० साल के लड़के हृदय देबनाथ ने बताया, जो सीएस में इंजीनियरिंग का छात्र है और रैपर भी है।  हाल ही में उन्होंने जागरूकता रैप गीत “रेप एंड मर्डर” और “गो बैक कोरोना” की रचना की।
 १) ब्लैक होल, व्हाइट होल और वर्म होल हर मानव जीवन में दैनिक आधार पर मौजूद हो सकते हैं।
 २) हो सकता है कि ब्लैक होल के कारण लोगों की जान चली जाती है क्योंकि हॉकिंग विकिरण के कारण यह ऊर्जा खो देता है।
 ३) हम कभी-कभी अतीत और भविष्य में यात्रा कर सकते हैं जब भी हम नियमित रूप से अपने सपने को नियमित रूप से ‘ह्यूमन टाइम मशीन’ न्यूरॉन्स की मदद से देखते हैं क्योंकि वे प्रकाश की गति प्राप्त करते हैं।
 ४) जैसा कि हम जानते हैं कि ऊर्जा संरक्षण के नियम के अनुसार न तो ऊर्जा बनाई जाती है और न ही नष्ट होती है, हो सकता है कि इसलिए जब हमारे मानव जीवन में एक ब्लैक होल गायब हो जाता है, तो यह हॉकिंग विकिरणों को उत्तेजित करता है और इसीलिए जब एक निकट-मृत्यु मानव शरीर को एक के नीचे रखा जाता है  तब ग्लास बॉक्स यह इसे विस्फोट करता है।
 ५) हम जानते हैं कि सापेक्षता सिद्धांत के अनुसार द्रव्यमान गुरुत्वाकर्षण पर निर्भर नहीं करता है। और क्वांटम भौतिकी के अनुसार, हमारा शरीर हर परमाणु और उप-परमाणु कणों से बना है और कण ब्लैक होल के साथ-साथ ब्रह्मांड में भी मौजूद हैं और हमारी प्रकृति में मौजूद हर चीज भी समान समकक्ष कणों द्वारा बनाई गई है। हम यह भी जानते हैं कि E=mc² और एक ब्लैक होल ऊर्जा के कारण मौजूद होता है।

ब्लैक-व्हाइट-वर्म होल, ह्यूमन टाइम मशीन और मौत के कारण की एक ‘हाइपोथीसिस’ कहानी हृदय देबनाथ द्वारा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here