Euro 2020 में छाई भारत की बेटी, कोरोना महामारी में डॉक्‍टर धर्म निभाने के लिए ‘उतार’ दिया था मिस इंग्‍लैंड का ताज

2019 में मिस इंग्‍लैंड का ताज पहनने वाली भारतीय डॉक्‍टर भाषा मुखर्जी (Bhasha Mukherjee) कोरोना वायरस महामारी के दौरान लोगों की मदद के लिए ताज उतारकर अपने काम पर वापस लौट गई थीं

0
71
Euro 2020 में छाई भारत की बेटी, कोरोना महामारी में डॉक्‍टर धर्म निभाने के लिए 'उतार' दिया था मिस इंग्‍लैंड का ताज

नई दिल्ली. यूरो कप में खिलाड़ियों के अलावा भारत की डॉक्‍टर बेटी भाषा मुखर्जी भी काफी सुर्खियां बटोर रही हैं. भाषा ने इंग्‍लैंड के सपोर्ट में सोशल मीडिया पर अपनी खूबसूरत तस्‍वीरें शेयर कीं. जो अब काफी वायरल हो रही हैं.

उन्‍होंने इंग्‍लैंड के झंडे के साथ पोज देते हुए तस्‍वीर शेयर की और टीम का सपोर्ट किया. भाषा मुखर्जी भारतीय मूल की ब्रिटिश नागरिक हैं. 2019 में उन्‍हें मिस इंग्‍लैंड चुना गया था. वह पेशे से डॉक्‍टर भी है.

कोरोना वायरस जैसी खतरनाक महामारी के दौरान अपना डॉक्‍टर धर्म निभाने के लिए वह पिछले वर्ष भारत से ब्रिटेन लौट गई थीं. उन्‍होंने काम पर लौटने का फैसला विदेश यात्रा के दौरान लिया था. जहां उन्‍हें कई चैरिटी के लिए एक एंबेसडर बनने के लिए आमंत्रित किया गया था.

वह उस समय कोलकाता दौरे पर एक क्‍लब के साथ काम कर रही थीं, तभी उन्‍हें पिलग्रिम अस्‍पताल के अपने पूर्व साथियों से मैसेज मिला कि इस महामारी में अस्‍पताल का स्‍टाफ परेशानियों का सामना कर रहा था.

इस बाद मुखर्जी ने अस्‍पताल मैनेजमेंट से संपर्क किया और जानकारी दी कि वह काम पर लौटेंगी. मुखर्जी का कहना था कि महामारी के दौरान भी ताज पहने रहना गलत होता.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here