अब बच्चों को भी लगेगी कोरोना की वैक्सीन, इस देश ने दी बड़ी अनुमति

0
32

दुनिया भर में कोरोना के खिलाफ लड़ाई जारी है। इस जंग में अब एक और नया कदम उठाया गया है। कोरोना के खिलाफ कवच मानी जाने वाली वैक्सीन अब तक बड़ों के ही लगाई जा रही थी, अब बच्चों को वैक्सीन लगाने की अनुमति मिल गई है। यूरोपीय संघ (ईयू) ने १२ से १७ वर्ष के आयु वर्ग के बच्चों के लिए मॉडर्ना कंपनी की कोविड वैक्सीन ‘स्पाइकवैक्सङ्कको मंजूरी दे दी है।यूरोपियन मेडिसिन्स वॉचडॉग ने शुक्रवार को १२ से १७ साल की उम्र के बच्चों के लिए मॉडर्ना की कोरोना वैक्सीन को इजाजत दे दी। ये वैक्सीन बच्चों को दो डोज में दी जाएगी। दोनों डोज के बीच चार हफ्ते का अंतराल होगा। यूरोपीय मेडिसिन एजेंसी (ईएमए) ने कहा कि १२ से १७ वर्ष की आयु वर्ग के ३,७३२ बच्चों पर स्पाइकवैक्स का टड्ढायल किया गया था, जो सफल रहा। उस दौरान पता चला कि सभी बच्चों में पर्याप्त एंटीबॉडी विकसित हुई। इतनी ही एंटीबॉडी १८ से २५ आयुवर्ग में भी देखी गई थी।
गौरतलब है कि मॉडर्ना की वैक्सीन को जनवरी २०२१ में यूरोपीय संघ के २७ देशों में मंजूरी मिली। ये वैक्सीन अब तक १८ वर्ष और उससे अधिक उम्र के लोगों को दी जा रही है। ब्रिटेन, कनाडा, अमरीका में भी इसे लाइसेंस दिया गया है। अभी तक फाइजर-बायोएनटेक की वैक्सीन ही यूरोप और उत्तरी अमरीका में १८ वर्ष से कम उम्र के बच्चों के लिए स्वीकृत एकमात्र वैक्सीन है। गौरतलब है कि भारतीय कंपनी भारत बायोटेक ने भी वैक्सीन का बच्चों पर टड्ढायल शुरू किया है। अगले सप्ताह दो से छह साल की आयु वर्ग के बच्चों पर कोवैक्सीन टीके के दूसरे चरण का टड्ढायल शुरू होगा।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here