मातृभाषा स्वाभिमान जागरण समिति का उधारबंद अंचल में गांव-गांव तुफानी अभियान

0
675

प्रे. स. शिलचर, 28 फरवरी: आज मातृभाषा स्वाभिमान जागरण समिति द्वारा उधारबंद अंचल के 11 बागान, बस्ती और गांव में तूफानी अभियान चलाया गया। समिति के महासचिव दिलीप कुमार, संगठन मंत्री चंद्रमा प्रसाद कोईरी, प्रचार सचिव चंद्रशेखर ग्वाला, स्थानीय कार्यकर्ता श्रीमती इंदिरा सिंह व समिति के मार्गदर्शक ज्योतिषाचार्य आनंद शास्त्री के नेतृत्व में 11:30 बजे बाघेरकोना में बैठक से अभियान का प्रारंभ किया गया। बैठक में अरुणाबंद चाय बागान से गौतम ग्वाला, कोइरी बस्ती के राजेंद्र कोइरी, राजू माला, विजेन कोइरी आदि उपस्थित सदस्यों ने कम से कम 13 घर में मातृभाषा जागरण अभियान चलाने का संकल्प लिया।

अरुणाबंद में कमल काहार, विमल चाशा, चंडीघाट में विमल सतनामी, लारसिंह चाय बागान में रोहित सिंह, उधारबंद में लक्ष्मी नोनिया बमबम, दयापुर में वीरेश गोड़, रणजय ग्वाला, माझा ग्राम में गदाधर कोइरी, छप्पन हाल में राघव गडे़री, अरकाटीपुर में केदार ग्वाला, मैदानबिल, छोटा काशीपुर, काशीपुर, गोसाईपुर आदि के लिए जयराम पासी, सूर्य प्रकाश गोड़ आदि से संपर्क करके उन्हें घर-घर में जागरण पत्रक पहुंचाने और लोगों से जनगणना में मातृभाषा सही लिखाने के लिए दायित्व दिया गया। संपर्क की सभी व्यक्तियों ने दायित्व स्वीकार करते हुए इस अभियान के प्रति अपना पूरा समर्थन व्यक्त किया।

ज्योतिषाचार्य आनंद शास्त्री ने कहा कि किसी की मातृभाषा बदलना संवैधानिक अपराध है जो बराक घाटी में पिछले 70 वर्षों से चल रहा है, इसे रोकना है। जनगणना में सही जनसंख्या का आंकड़ा आना चाहिए। उल्लेखनीय है कि पिछले 1 फरवरी से समिति द्वारा बराक घाटी के विभिन्न अंचलों में मात्रिभाषा स्वाभिमान जागरण का जोरदार अभियान चलाया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here